नेपाल में मिला भारत में विकसित कोरोना का नया म्यूटेंट

नेपाल में मिला भारत में विकसित कोरोना का नया म्यूटेंट
new-mutants-of-corona-developed-in-nepal-found-in-nepal

काठमांडू, 26 अप्रैल (हि.स.)। नेपाल में कोरोना से स्थिति बहुत खराब हो गई है। हजारों लोगों में कोरोना के भारत में विकसित कोरोना के नए म्यूटेंट का संक्रमण पाया गया है। नेपाल में रविवार को 3032 नए मामले दर्ज किए गए। इसके बाद नेपाल में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 300,119 हो गई है जबकि 3,164 लोगों की कोरोना के कारण मौत हो गई है। नेपाल के महामारी विज्ञान और रोग नियंत्रण विभाग के निदेशक कृषण प्रसाद पौडेल ने बताया कि यूके वेरिएंट और भारत में पाए गए डबल म्यूटेंट वेरिएंट के मामले सामने आए हैं। साथ ही विशेषज्ञ अन्य वेरिएंट्स का पता लगाने के लिए जांच कर रहे हैं। नेपाल में टीकाकरण की प्रक्रिया जनवरी में शुरू हुई थी और 1.9 मिलियन लोगों को कोरोना के टीके लगाए गए थे। सभी वैक्सीन भारत और चीन द्वारा उपलब्ध कराई गई थी। नेपाल सहित 90 से अधिक विकासशील राष्ट्र अपनी आबादी की रक्षा करने के लिए भारत पर भरोसा करते हैं, सीरम इंस्टीट्यूट, जो दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीन निर्माता कंपनी है उस पर निर्भर हैं। लेकिन भारत ने कठिन समय में अपने देश को प्राथमिकता दी है। नेपालगंज के भेरी अस्पताल में काम करने वाले डॉक्टर प्रकाश थापा ने बताया कि नेपाल में स्थिति बहुत भयावह है। अस्पताल में मरीज भर गए हैं और वेंटिलेटर्स की कमी हो गई है। इस बार बच्चों और युवाओं में मामले तेजी से सामने आ रहे हैं और मरीजों के परिजन गलियारों और जमीन पर सो रहे हैं। नेपाल के विदेश मंत्री प्रदीप ग्यावली ने बताया कि मामलों के तेजी के साथ बढ़ने के बाद भी राष्ट्रीय स्तर के लॉकडाउन का जरूरत नहीं है। उल्लेखनीय है कि कोरोना के कारण नेपाल की अर्थव्यवस्था चरमरा गई है। पिछले साल कई महीनों तक लॉकडाउन रहा। हिन्दुस्थान समाचार/सुप्रभा सक्सेना