myanmar-army-massacre-coming-in-front-through-video-and-pictures
myanmar-army-massacre-coming-in-front-through-video-and-pictures
दुनिया

वीडियो व तस्वीरों के जरिये म्यांमार सेना के नरसंहार आ रहे सामने

news

नेपिता, 29 अप्रैल (हि.स.)। म्यांमार में लोकतंत्र को कुचल कर देश पर कब्जा जमाने वाले सैन्य शासन की जनता से की गई बर्बरता के फोटो और वीडियो इंटरनेट पर वायरल होने के साथ सच्चाई सामने ला रहे हैं। जिससे अंतरराष्ट्रीय समुदाय को म्यामांर के सैन्य शासन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के लिए मजबूर कर दिया है। सैन्य शासन की क्रूर कार्रवाई पर अब एमनेस्टी इंटरनेशनल व अन्य मानवाधिकार संगठन जांच में जुट गया है। लोकतंत्र समर्थनों के प्रदर्शन के दौरान 19 साल की लड़की एंजिल के मारे जाने का फोटो और वीडियो वायरल हो रहा है। जिसे गोली मार दी गई थी। एमनेस्टी ने वह वीडियो खोज निकाला, जिसमें भीड़ के पीछे हटने के बाद भी सुरक्षा बल उन पर सीधे गोली चला रहे हैं। एंजिल इसी प्रदर्शन में मारी गई थी। ये तस्वीर और वीडियो म्यांमार की सैन्य सरकार के लिए मुसीबत का कारण बनते जा रहे हैं। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जुंटा के बर्बर अत्याचार को नरसंहार के रूप में पेश किया जा रहा है। संयुक्त राष्ट्र विशेषज्ञों ने म्यांमार के सैन्य प्रमुख मिंग आन लाइंग को पत्र लिखकर नागरिकों के साथ हो रही हिंसा को पूरी तरह समाप्त करने के लिए कहा है। म्यांमार में गठित एकता सरकार ने दक्षिण पूर्व देशों के संगठन आसियान से कहा है कि वे गिरफ्तार किए गए लोगों को रिहा करने के लिए दबाव डालें। अमेरिका के सांसदों ने राष्ट्रपति जो बाइडन ने सैन्य शासन जुंटा पर और कड़े प्रतिबंध लगाने की मांग की है। हिन्दुस्थान समाचार/एजेंसी