ब्रिटेन में मंकीपॉक्स के मामले की पुष्टि, लेकिन रोग फैलने का ख़तरा नहीं

ब्रिटेन में मंकीपॉक्स के मामले की पुष्टि, लेकिन रोग फैलने का ख़तरा नहीं
monkeypox-case-confirmed-in-the-uk-but-no-risk-of-spreading-the-disease

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि कभी-कभार ही सामने आने वाले व घातक सिद्ध होने वाले पशु-जनित रोग - मंकीपॉक्स (monkeypox) के एक मामले की पुष्टि के बावजूद, ब्रिटेन में बीमारी का संक्रमण फैलने का जोखिम नहीं के बराबर है. ब्रिटेन के स्वास्थ्य अधिकारियों ने 7 मई को WHO को मंकीपॉक्स एक पुष्ट मामले की सूचना दी थी. यह व्यक्ति हाल ही में नाइजीरिया से लौटा था. मंकीपॉक्स एक वायरल बीमारी है जो मुख्य रूप से मध्य और पश्चिम अफ़्रीका के उष्णकटिबन्धीय वर्षावन क्षेत्रों में होती है. अन्य क्षेत्रों में भी कभी-कभी इससे संक्रमित मामले मिले हैं. संक्रमण के तरीक़े मंकीपॉक्स वायरस ज़्यादातर, मूषकों और प्राइमेट (बन्दर, चमगादड़ जैसे उच्च श्रेणी के स्तनपाई जीव) जैसे जंगली जानवरों से मनुष्यों में फैलता है, हालाँकि इसका मानव-से-मानव संचरण भी सम्भव है. आमतौर पर इस रोग में, बुख़ार, दाने और लिम्फ़ नोड्स में सूजन जैसे लक्षण सामने आते हैं. उदाहरण के लिये, जीवित या मृत जंगली जानवरों का माँस खान से भी इस बीमारी के फैलने के जोखिम हैं. UN News/Omar Musni टेम्स नदी के पार से दिखाई देता, वेस्टमिंस्टर महल (ब्रितानी संसद) और लन्दन का मध्य इलाक़ा. व्यापक सम्पर्क अनुरेखण यूएन स्वास्थ्य एजेंसी ने कहा है कि संक्रमित व्यक्ति, अप्रैल के अन्त में नाइजीरिया गया और लागोस व डेल्टा देशों में रहा. 29 अप्रैल को उसे अपनी त्वचा पर चकत्ते दिखे. फिर 4 मई को वो ब्रिटेन लौटा और उसी दिन एक अस्पताल गया. वहाँ मंकीपॉक्स का सन्देह होने पर, उसे तुरन्त अलगाव में रखा गया. व्यापक सम्पर्क अनुरेखण के ज़रिये, समुदाय, स्वास्थ्य देखभाल से जुड़े कर्मचारियों और अन्तरराष्ट्रीय उड़ान में सम्पर्क में आए व्यक्तियों की पहचान की जा चुकी है, लेकिन अब तक, किसी से भी समान लक्षणों की सूचना नहीं मिली है. संयुक्त राष्ट्र एजेंसी ने कहा, “चूँकि इस व्यक्ति को तुरन्त अलग-थलग करके सम्पर्क अनुरेखण किया गया था, इसलिये ब्रिटेन में इस मामले से सम्बन्धित प्रसारण का जोखिम न्यूनतम है. लेकिन, चूँकि नाइजीरिया में संक्रमण के स्रोत का पता नहीं है, संचरण का जोखिम बरक़रार है.” यात्रा या व्यापार पर कोई प्रतिबन्ध नहीं नाइजीरियाई अधिकारियों को मामले की जानकारी 7 मई को दी गई थी. संक्रमित व्यक्ति ने नाइजीरिया में रैश या बीमारी होने वाले, या ज्ञात मंकीपॉक्स संक्रमित किसी भी व्यक्ति के सम्पर्क में आने से अनभिज्ञता जताई है. आवश्यकता पड़ने पर, आगे की कार्रवाई के लिये देश के भीतर यात्रा और सम्पर्क में आए लोगों का विवरण भी साझा किया गया है. इस समय उपलब्ध जानकारी के आधार पर WHO, फिलहाल नाइजीरिया या ब्रिटेन की यात्रा या व्यापार पर किसी भी प्रतिबन्ध की सिफ़ारिश नहीं कर रहा है. मंकीपॉक्स के बारे में अधिक जानकारी मंकीपॉक्स वायरस ऑर्थोपॉक्सवायरस परिवार से सम्बन्धित है, जिसमें चेचक भी शामिल है. यह बीमारी संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आने या छोटी बून्दों के ज़रिये फैल सकता है. इसकी ऊष्मायन अवधि आमतौर पर छह से 13 दिनों की होती है, लेकिन 5 से 21 दिनों के बीच भी लक्षण सामने आ सकते हैं. लक्षण हल्के या गम्भीर हो सकते हैं, और आमतौर पर 14 से 21 दिनों के भीतर अपने आप ठीक हो जाते हैं. हालाँकि, घाव में बहुत खुजली या दर्द हो सकता है. इससे पहले भी ब्रिटेन में मंकीपॉक्स के सात मामले सामने आ चुके हैं, जो सभी नाइजीरिया की यात्रा से जुड़े थे. साल 2021 में अमेरिका में भी दो अलग-अलग मामले सामने आए थे, और वो व्यक्ति भी नाइजीरिया से आए थे. सितम्बर 2017 से 30 अप्रैल 2022 तक, इस पश्चिम अफ़्रीकी देश में 558 सन्दिग्ध मामले दर्ज किये जा चुके हैं. इस आँकड़े में 241 पुष्ट हुए मामले भी शामिल हैं, और इस बीमारी से आठ लोगों की मौत हो चुकी है. --संयुक्त राष्ट्र समाचार/UN News

अन्य खबरें

No stories found.