कोविड को एक समय में एक देश से नहीं हराया जा सकता: गुटेरेस

 कोविड को एक समय में एक देश से नहीं हराया जा सकता: गुटेरेस
kovid-cannot-be-defeated-from-one-country-at-a-time-guterres

संयुक्त राष्ट्र, 25 मई (आईएएनएस)। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने महामारी के खिलाफ लड़ाई में वैश्विक एकजुटता का आह्वान करते हुए कहा है कि कोविड को एक समय में एक देश से नहीं हराया जा सकता है। सोमवार को जिनेवा में चल रही विश्व स्वास्थ्य सभा में एक वीडियो संदेश में उन्होंने कहा, विश्व के नेताओं को टीकों, परीक्षणों और उपचारों की समान पहुंच के लिए वैश्विक योजना के साथ तत्काल कदम उठाना चाहिए। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने संयुक्त राष्ट्र प्रमुख के हवाले से कहा, यह वैश्विक स्तर पर सबसे गरीब देशों में जीवन रक्षक उपकरणों को तैनात करने के लिए एसीटी-एक्सेलरेटर और कोवैक्स सुविधा के वित्तपोषण के साथ शुरू होगा। उन्होंने जी 20 टास्क फोर्स के लिए अपनी अपील दोहराई जो सभी देशों को वैक्सीन उत्पादन क्षमता, विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ), एसीटी-एक्सेलरेटर पार्टनर्स और अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय संस्थानों और अन्य प्रमुख हितधारकों को एक साथ लाती है। उन्होंने कहा कि टास्क फोर्स को स्वैच्छिक लाइसेंस और प्रौद्योगिकी हस्तांतरण से लेकर पेटेंट पूलिंग और बौद्धिक संपदा अधिकारों तक सभी विकल्पों की खोज करके विनिर्माण क्षमता को कम से कम दोगुना करने का लक्ष्य रखना चाहिए। महासचिव के अनुसार, जी 20 टास्क फोर्स को एसीटी-एक्सेलरेटर और इसकी कोवैक्स सुविधा का उपयोग करके समान वैश्विक वितरण को संबोधित करना चाहिए और इसे प्रमुख शक्तियों द्वारा उच्चतम स्तर पर सह-आयोजित किया जाना चाहिए, जो बहुपक्षीय प्रणाली के साथ-साथ अधिकांश वैश्विक आपूर्ति और उत्पादन क्षमता रखते हैं। कोविड-19 महामारी की शुरूआत से मैंने दो-गति वाली वैश्विक प्रतिक्रिया के खतरों की चेतावनी दी है। दुख की बात है कि जब तक हमने अभी कार्रवाई नहीं की तो हम एक ऐसी स्थिति का सामना करेंगे जिसमें अमीर देश अपने अधिकांश लोगों का टीकाकरण करा कर अपनी अर्थव्यवस्थाओं को खोलेंगे, जबकि वायरस सबसे गरीब देशों में चक्कर लगाने और उत्परिवर्तित करके गहरी पीड़ा का कारण बनेगा। कोरोना के बढ़ते मामले सैकड़ों हजारों लोगों के जीवन को प्रभावित कर सकते हैं और वैश्विक आर्थिक सुधार को धीमा कर सकते हैं। गुटेरेस ने कहा, कोविड-19 से उबरने की हमारी कोशिश महिलाओं की प्रजनन सेवाओं से लेकर बच्चों के टीकाकरण और मानसिक स्वास्थ्य कवरेज तक अन्य आवश्यक स्वास्थ्य देखभाल की कीमत पर नहीं आनी चाहिए। उन्होंने कहा कि डब्ल्यूएचओ को वैश्विक महामारी की तैयारियों के केंद्र में होना चाहिए, इसे टिकाऊ और अनुमानित संसाधनों की जरूरत है और इसे अपनी मांग के मुताबिक काम करने के लिए पूरी तरह से सशक्त होना चाहिए। दुनिया के भविष्य के लिए उपयुक्त अंतरराष्ट्रीय सहयोग और एकजुटता के लिए एक रूपरेखा की जरूरत है साथ ही स्थायी और अनुमानित वित्तपोषण के लिए नए समाधान और रोकथाम का पता लगाने और बीमारी के प्रकोप की प्रतिक्रिया के लिए राष्ट्रीय क्षमता बढ़ाने की जरूरत है। --आईएएनएस एसएस/आरजेएस