जापान ने महिला सशक्तिकरण और शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए पहला लिंग बांड किया जारी

 जापान ने महिला सशक्तिकरण और शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए पहला लिंग बांड किया जारी
japan-issues-first-gender-bond-to-promote-women-empowerment-and-education

टोक्यो, 27 सितम्बर (आईएएनएस)। जापान इंटरनेशनल कोऑपरेशन एजेंसी (जेआईसीए) ने महिलाओं के सशक्तिकरण और शिक्षा को बढ़ावा देने और विकासशील देशों में लैंगिक समानता सुनिश्चित करने के लिए सोमवार को देश का पहला लैंगिक बांड जारी किया। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के आनुसार, 10 साल और 20 साल की परिपक्वता के साथ बांड जारी करने के माध्यम से, सरकार समर्थित सहायता एजेंसी ने कुल मिलाकर 20 बिलियन येन (181मिलियन डॉलर) उन जगहों पर परियोजनाओं को निधि देने के लिए किया। जहां महिलाओं के पास शिक्षा, काम और राजनीतिक गतिविधियों में भाग लेने के लिए पुरुषों के समान अवसर नहीं हैं। जेआईसीए के अनुसार, वर्तमान स्थिति में महिला-केंद्रित सहायता और भी महत्वपूर्ण हो गई, क्योंकि अधिक महिलाएं घरेलू हिंसा के अधीन रहती हैं और कोविड -19 महामारी के दौरान रोजगार या शिक्षा के अवसरों से वंचित रही हैं। लैंगिक समानता संयुक्त राष्ट्र द्वारा निर्धारित 17 सतत विकास लक्ष्यों में से एक है। जेआईसीए के लिंग बांड विभिन्न चुनौतियों का समाधान करने के लिए तैयार किए गए सामाजिक बांड्स का हिस्सा हैं। --आईएएनएस एनपी/एएनएम

अन्य खबरें

No stories found.