आइंस्टीन का हस्तलिखित पत्र 8.75 करोड़ रुपये में बिका

आइंस्टीन का हस्तलिखित पत्र 8.75 करोड़ रुपये में बिका
einstein39s-handwritten-letter-sold-for-rs-875-crore

बोस्टन, 22 मई (हि.स.)। द्रव्यमान और ऊर्जा के बीच संबंध बताने वाले अल्बर्ट आइंस्टीन के चर्चित फार्मूला (E=mc2) से संबंधित हस्तलिखित पत्र 1.2 मिलियन डॉलर (करीब 8.75 करोड़ रुपये) में बिका है। बोस्टन की आरआर ऑक्शन की ओर से यह जानकरी दी गई है। कैलीफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के आइंस्टीन पेपर्स प्रोजेक्ट और यरुशलम की हिब्रू यूनिवर्सिटी के अनुसार केवल तीन ऐसे उदाहरण हैं जिन्हें आइंस्टीन ने अपने हाथों से लिखा है। चौथी निजी इक्वेशन को हाल ही में सार्वजनिक किया गया है। आरआर ऑक्शन के एक्जीक्यूटिव वाइस प्रेसिडेंट बॉबी लिविंगस्टन ने बताया कि यह होलोग्राफिक और भौतिकी दोनों दृष्टिकोण से एक महत्वपूर्ण पत्र है। यह एक पन्ने का हस्तलिखित पत्र जर्मन भाषा में पोलिश अमेरिकन फिजिसिस्ट लुडविक सिल्बरस्टीन को 26 अक्टूबर, 1946 को लिखा गया है। उल्लेखनीय है कि सिल्बरस्टीन आइंस्टीन के कुछ सिद्धांतों के आलोचक थे। प्रिंसटन यूनिवर्सिटी के लेटर हेड पर लिखे गए इस पत्र में आइंस्टीन ने लिखा है कि आपके प्रश्न का उत्तर बिना किसी विद्वता के ई=एमसी स्कवॉयर के सूत्र से दिया जा सकता है। पत्र सिल्बरस्टीन के व्यक्तिगत अभिलेखागार का हिस्सा था, जिसे उनके वंशजों द्वारा बेचा गया था। हिन्दुस्थान समाचार/सुप्रभा सक्सेना