डोनाल्ड ट्रम्प की भतीजी की किताब के विमोचन पर अस्थायी रोक
डोनाल्ड ट्रम्प की भतीजी की किताब के विमोचन पर अस्थायी रोक
दुनिया

डोनाल्ड ट्रम्प की भतीजी की किताब के विमोचन पर अस्थायी रोक

news

नई दिल्ली, 01 जुलाई (हि.स.)। न्यूयॉर्क के एक जज ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की भतीजी की पुस्तक के विमोचन को रोकते हुए एक अस्थायी आदेश जारी किया है। न्यूयॉर्क स्टेट सुप्रीम कोर्ट के जज हैल ग्रीनवल्ड द्वारा राष्ट्रपति के भाई रॉबर्ट ट्रम्प के एक दावे का आज जवाब दिया गया है, जिसमें उन्होंने तर्क दिया है कि मैरी ट्रम्प की पुस्तक एक गैर-कानूनी संधि का उल्लंघन करती है जो उनके पिता फ्रेड ट्रम्प की 1999 की मृत्यु के बाद उनके संपत्ति का हिस्सा था। रॉबर्ट ट्रम्प ने कहा कि 28 जुलाई को "टू मच एंड नेवर एनफ: हाउ माई फैमिली क्रिएटेड द वर्ल्ड्स मोस्ट डेंजरस मैन" को जारी करने की तिथि निर्धारित की गई है। जो उनके पिता फ्रेड ट्रम्प सीनियर की संपत्ति से जुड़े एक गोपनीयता समझौते का उल्लंघन करेगा, जिनकी 1999 में मृत्यु हो गई थी। मैरी ट्रम्प फ्रेड ट्रम्प की पोती हैं। मैरी ट्रम्प और साइमन एंड शूस्टर ने ग्रीनवल्ड के आदेश को जारी करने के बाद 2-1 / 2 घंटे से भी कम समय में इसके खिलाफ अपील की। उनके वकील थियोडोर ब्यूट्रस ने ग्रीनवल्ड के आदेश को "मूल राजनीतिक अभिव्यक्ति पर पूर्व नियंत्रण कहा जो कि अमेरिकी संविधान के पहले संशोधन का उल्लंघन करता है। ब्यूट्रस ने कहा कि एक चुनावी वर्ष में सत्तारूढ़ राष्ट्रपति के बारे में सार्वजनिक चिंता और महत्व के मामलों से जुड़ी यह पुस्तक है, जिसको एक दिन के लिए भी दबाया नहीं जाना चाहिए। रॉबर्ट ट्रम्प के वकील चार्ल्स हार्डर ने प्रतिवादियों के कार्यों को "वास्तव में निंदनीय" बताया। हार्डर ने कहा, "सुधारात्मक कार्रवाई ने उनके अहंकारी आचरण पर तत्काल रोक लगाई है, हम इस मामले को उसके अंत तक ले जाएंगे। ग्रीनवल्ड का आदेश मैरी ट्रम्प की पुस्तक के वितरण पर तब तक रोक लगाता है जब तक औपचारिक प्रतिबंध के पक्ष या विपक्ष में फैसला जारी नहीं हो जाता है। मामले की अगली सुनवाई 10 जुलाई को होनी है। साइमन एंड शूस्टर ने कहा है कि पुस्तक में ट्रम्प परिवार के "काले इतिहास" को स्पष्ट किया गया है। जो यह समझाने के लिए है कि डोनाल्ड ट्रम्प कैसे वह व्यक्ति बन गए जो अब दुनिया के स्वास्थ्य, आर्थिक सुरक्षा और सामाजिक ताने-बाने के लिये खतरा हैं। उल्लेखनीय है कि 20 जून को वाशिंगटन डी.सी. में एक संघीय न्यायाधीश ने पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन के राष्ट्रपति के एक आलोचनात्मक संस्मरण के प्रकाशन पर रोक लगाने के व्हाइट हाउस के अनुरोध को अस्वीकार कर दिया था। हिन्दुस्थान समाचार/राकेश सिंह-hindusthansamachar.in