कोरोना की मार : अमेरिकी अर्थव्वस्था में दूसरी तिमाही में 33 प्रतिशत की बड़ी चोट
कोरोना की मार : अमेरिकी अर्थव्वस्था में दूसरी तिमाही में 33 प्रतिशत की बड़ी चोट
दुनिया

कोरोना की मार : अमेरिकी अर्थव्वस्था में दूसरी तिमाही में 33 प्रतिशत की बड़ी चोट

news

कोरोना की मार : अमेरिकी अर्थव्वस्था में दूसरी तिमाही में 33 प्रतिशत की बड़ी चोट वाशिंगटन| कोरोना की मार से कराह रहे अमेरिका को अर्थव्यस्था के मोर्चे पर भी कोविड-19 ने बड़ी चोट पहुंचाई है। अप्रैल-जून की तिमाही में अमेरिकी अर्थव्यवस्था में 33 फीसद की बड़ी गिरावट आई है। वृद्धि के लिहाज से यह अब तक की सबसे खराब तिमाही रही। इस दौरान कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण के कारण कंपनियों को कामकाज बंद करना पड़ा जिससे बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार से हाथ धोना पड़ा और बेरोजगारी बढ़कर 14.7 फीसद पर पहुंच गई। कोरोना की वजह से गुजारे के लिए 40% परिवारों को लेना पड़ा कर्ज इससे पहले, आइजनहावर प्रशासन के दौरान 1958 में अर्थव्यवस्था में 10 फीसद की गिरावट आई थी। वाणिज्य मंत्रालय के दूसरी तिमाही के दौरान सकल घरेलू उत्पाद, सामानों और सेवाओं के कुल उत्पादन में गिरावट के आंकड़े 1947 के बाद से अब तक रिकार्ड में दर्ज सबसे बड़ी गिरावट को दर्शाते हैं। जनवरी-मार्च में अर्थव्यवस्था में 5 फीसद की गिरावट आई थी। इसी दौरान अर्थव्यवस्था ने कोविड-19 संकट के कारण आधिकारिक रूप से मंदी में प्रवेश किया। इसके साथ अमेरिका की 11 साल से जारी आर्थिक वृद्धि पर विराम लग गया। पिछली तिमाही में गिरावट का मुख्य कारण उपभोक्ता व्यय में कमी है, जिसका आर्थिक गतिविधियों में करीब 70 फीसद योगदान है। ग्राहकों का खर्च सालाना आधार पर 34 फीसद गिरा है। इसकी वजह यात्रा पर पाबंदी, ‘लॉकडाउन के कारण कई रेस्तरां, बार, मनांरेजन स्थलों और अन्य खुदरा प्रतिष्ठानों का बंद होना है। आंकड़ों के अनुसार व्यापार निवेश और रिहायशी मकान की मांग में भी गिरावट दर्ज की गई है। कर संग्रह में कमी से सरकार का खर्च प्रभावित हुआ। इन सबसे अर्थव्यवस्था का मुख्य स्तंभ रोजगार बाजार पर बुरा असर पड़ा है। करोड़ों की संख्या में रोजगार प्रभावित हुए। लगातार 18वें महीने छंटनी के शिकार 10 लाख से अधिक लोगों ने बेरोजगार लाभ के लिए आवेदन किए। अबतक करीब एक तिहाई नौकरियां फिर से सृजित हुई हैं लेकिन संक्रमण के बढ़ते मामले से रोजगार बाजार पर आगे असर पड़ सकता है। व्हाइट हाउस और सीनेट में उसके कुछ रिपब्लिकन सहयोगियों ने संकेत दिया है कि वे 600 डॉलर प्रति सप्ताह के बेरोजगारी लाभ को कम से कम अस्थायी तौर पर अभी जारी रखने के पक्ष में है। बेरोजगारी लाभ की वजह से ही कोविड-19 महामारी के दौरान परिवारों तथा अर्थव्यवस्था को संरक्षण दिया जा सका। यह लाभ शुक्रवार को समाप्त हो रहा है। माना जा रहा है कि इस लाभ को समाप्त होने से पहले यह देरी से उठाया गया कदम है। जानें बैंक अगस्त में कितने दिन रहेंगे बंद, त्योहार की भरमार हालांकि, कुछ रिपब्लिकन सदस्य चाहते थे कि अगले कोरोना वायरस पैकेज में इस लाभ को घटाया जाए। वहीं राष्ट्रपति ट्रंप तथा सीनेट के कुछ रिपब्लिकन सदस्यों ने कहा था कि वे अभी 600 डॉलर के लाभ को जारी रखने के पक्ष में हैं। इस बारे में देर रात विचार-विमर्श हो सकता है। ट्रंप ने व्हाइट हाउस में कहा कि हम बेरोजगारी लाभ को अस्थायी रूप से आगे बढ़ाने के पक्ष में हैं। इससे उन अमेरिकियों को लाभ होगा जिन्होंने महामारी के दौरान अपनी नौकरी गंवा दी है, जबकि इसमें उनकी कोई गलती नहीं थी। Thank You, Like our Facebook Page - @24GhanteUpdate 24 Ghante Online | Latest Hindi News-24ghanteonline.com