चीन आधुनिक ऊर्जा प्रणाली के निर्माण में ला रहा तेजी

 चीन आधुनिक ऊर्जा प्रणाली के निर्माण में ला रहा तेजी
china-is-accelerating-the-construction-of-modern-energy-system

बीजिंग, 13 मई (आईएएनएस)। पिछले कुछ समय से चीन कम कार्बन ऊर्जा विकास को बहुत अधिक महत्व देते हुए सक्रिय रूप से ऊर्जा खपत, ऊर्जा आपूर्ति, प्रौद्योगिकी एवं नवाचार और संस्था उन्नयन को बढ़ावा दे रहा है। इतना ही नहीं, चीन स्वच्छ, कम कार्बन, सुरक्षित और कुशल ऊर्जा प्रणाली के निर्माण और ऊर्जा आपूर्ति की गारंटी की क्षमता में सुधार के उद्देश्य से ऊर्जा क्रांति को आगे बढ़ाने के लिए बहुआयामी प्रयास भी कर रहा है। इस वर्ष की शुरुआत के बाद से, चीन में गैर-जीवाश्म ऊर्जा अधिक तेजी से विकसित हो रही है, जबकि देश की बिजली उत्पादन में भी साल-दर-साल अपेक्षाकृत तेज वृद्धि देखी गई है। इस साल मार्च में, थाइहू इलेक्ट्रिक नंबर 001, जो कि एक इलेक्ट्रिक वर्कबोट है, पूर्वी चीन के च्यांगसु प्रांत के वूशी में लॉन्च की गई। इस वर्कबोट की लिथियम बैटरी पांच इलेक्ट्रिक वाहनों की संयुक्त मात्रा में बिजली का भंडारण कर सकती है। प्रारंभिक अनुमानों के अनुसार, जब थाइहू झील बेसिन में सभी 1100 वर्कबोट विद्युतीकृत हो जाएंगी, तो ईंधन तेल से चलने वाली नावों से इलेक्ट्रिक नावों में परिवर्तित होने से कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन में प्रतिवर्ष 75,000 टन की कमी आएगी, जो कि 27,000 से अधिक निजी कारों द्वारा कार्बन डाइऑक्साइड का निर्वहन करने के बराबर है। साल 2019 में समान अवधि के आंकड़ों के आधार पर, चीन के पवन, सौर और परमाणु ऊर्जा संयंत्रों से उत्पन्न बिजली के उत्पादन में दो साल पहले की तुलना में इस साल की पहली तिमाही में औसतन क्रमश: 17.6 प्रतिशत, 12.5 प्रतिशत और 9.6 प्रतिशत की वृद्धि हुई। इस बीच, देश में बिजली आपूर्ति परियोजनाओं को कुल 79.5 अरब युआन (करीब 12.37 अरब डॉलर) का निवेश प्राप्त हुआ, जो साल-दर-साल विकास दर का 31.3 प्रतिशत और दो साल पहले 39.9 प्रतिशत की औसत वृद्धि दर का प्रतिनिधित्व करता है। विशेष रूप से, लगभग 91 प्रतिशत निवेश गैर-जीवाश्म ऊर्जा का उपयोग करके बिजली उत्पादन परियोजनाओं के लिए किया गया था। दक्षिण-पश्चिम चीन के सछ्वान प्रांत की राजधानी छंगतु में अनेक रेस्तरां हैं, जिन्होंने खाना पकाने के स्टोव को इलेक्ट्रिक कुकर में परिवर्तित कर दिया है। उन्होंने कोयले या प्राकृतिक गैस का उपयोग बंद कर इलेक्ट्रिक कुकर का उपयोग करते हैं। उनके अनुसार, ये काफी सुरक्षित हैं, कम धुआं पैदा करते हैं, और ऊर्जा खपत लागत भी आधा हो जाता है। छंगतु शहर में 10 हजार से अधिक हॉटपॉट रेस्तरां हैं, जो शहर में हॉटपॉट रेस्तरां की कुल संख्या का लगभग 70 प्रतिशत है, खाना पकाने के लिए बिजली से चलने वाले उपकरणों का ही उपयोग कर रहे हैं। इलेक्ट्रिक कुकर वाले इन हॉटपॉट रेस्तरां ने शहर की स्वच्छ और निम्न-कार्बन ऊर्जा के विकास को प्रभावी ढंग से आगे बढ़ाया है, क्योंकि वे प्रतिवर्ष लगभग 83.7 करोड़ किलोवॉट घंटा बिजली की खपत करते हैं, जिसका अर्थ है कि वे हर साल 7,10,000 टन से अधिक कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन को कम करते हैं। वास्तव में, चीन के कई शहरों ने प्रमुख क्षेत्रों और उद्योगों में बिजली के साथ पारंपरिक ऊर्जा के प्रतिस्थापन को बढ़ावा देने, संसाधन उपयोग दक्षता में व्यापक सुधार और देश की ऊर्जा क्रांति को सुविधाजनक बनाने के लिए सक्रिय उपाय किए हैं। इसके अलावा, पश्चिमोत्तर चीन में शानशी प्रांत पर्यावरण के अनुकूल उत्पादों, जैसे एनईवी, हरित निर्माण सामग्री, ऊर्जा कुशल घरेलू उपकरणों और कुशल प्रकाश उत्पादों को बढ़ावा देने के प्रयासों को तेज कर रहा है। (लेखक : अखिल पाराशर, चाइना मीडिया ग्रुप में पत्रकार हैं) --आईएएनएस एसजीके/एएनएम

अन्य खबरें

No stories found.