एयर कॉरिडोर बंद होने से भारत में अफगान कालीन के निर्यात में आई गिरावट

 एयर कॉरिडोर बंद होने से भारत में अफगान कालीन के निर्यात में आई गिरावट
afghan-carpet-exports-decline-in-india-due-to-the-closure-of-the-air-corridor

नई दिल्ली, 5 अक्टूबर (आईएएनएस)। अफगान व्यापारियों ने कहा कि भारत सहित कई देशों में कालीन निर्यात में हवाई कॉरिडोर बंद होने से काफी कमी आई है, साथ ही घरेलू बिक्री में भी कमी आई है। टोलो न्यूज ने एक व्यापारी मोहिबुल्लाह कोही के हवाले से कहा, हमारे पास उत्पाद हैं, लेकिन निर्यात बंद हो गया है। उन्होंने कहा, एयर-कॉरिडोर पहले मौजूद था, बंदरगाह खोले गए थे और हमने यूरोप, अमेरिका, यूएई और भारत को उत्पादों का निर्यात किया था। एक अन्य व्यापारी मोहम्मद अयूब के मुताबिक घरेलू बाजार पर भी असर पड़ा है। पिछले 40 से 50 दिनों के दौरान, हमारा व्यवसाय टूट गया है। हमारे पास (अफगानिस्तान) के बाहर ग्राहक थे .. हम कालीन बेच सकते हैं, लेकिन पैसे ट्रांसफर नहीं कर सकते। चार साल से अधिक समय से कालीन उद्योग में काम कर रही समीरा ने कहा, स्थिति पहले से कहीं अधिक बदल गई है, क्योंकि पहले कालीनों की कीमत अच्छी थी और हम जो काम कर रहे थे वह पैसे के लायक था, लेकिन इस्लामी अमीरात आया, हम जो कालीन बुन रहे हैं, वह विदेशों में निर्यात नहीं किया जा रहा है और कीमत गिर गई है। चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इनवेस्टमेंट के एक सदस्य खान जान आलोकोजाई ने कहा, एयर कॉरिडोर पिछले एक महीने से बंद है। इससे हमारे निर्यात को बड़ा नुकसान हुआ है। हमारा निर्यात न केवल कम हुआ है, बल्कि पूरी तरह से बंद हो गया है। अफगान कालीनों में हाल ही में एक अरब डॉलर प्रति वर्ष का उद्योग होता था। --आईएएनएस एचके/आरजेएस

अन्य खबरें

No stories found.