नेपाल-भारत के संबंधों को मजबूत कर रहा है लघु उद्योग क्षेत्र
नेपाल-भारत के संबंधों को मजबूत कर रहा है लघु उद्योग क्षेत्र
दुनिया

नेपाल-भारत के संबंधों को मजबूत कर रहा है लघु उद्योग क्षेत्र

news

काठमांडू, 16 सितम्बर (हि.स.)। नेपाल में नीति-निर्धारिकों और प्रशासन के बीच हुई बैठक में यह बात सामने निकलकर आई है कि नेपाल और भारत के संबंधों को मजबूत करने में लघु उद्योग क्षेत्र महत्वपूर्ण और आधारभूत भूमिका निभा रहा है। कोरोना महामारी की मौजूदा स्थिति को ध्यान में रखते हुए इंडिया नेपाल सेंटर में भारतीय और नेपाली नीति-निर्धारिकों के बीच वर्चुअल बैठक का आयोजन किया गया, जिसके निष्कर्ष में यह बात निकलकर सामने आई। इस बैठक में कन्फेडरेशन ऑफ नेपाली इंडस्ट्रीज, नेपाल एसबीआई बैंक लिमिटेड औप पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंड्रस्ट्री के सहयोग से हुई। नेपाल राष्ट्र बैंक के गवर्नर माहा प्रसाद अधिकारी ने लघु उद्योग क्षेत्र को नेपाल की अर्थव्यवस्था का मुख्य इंजन कहा। हाल ही की नीतियों के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि नेपाल की लघु उद्योग क्षेत्र विकास की और बढ़ रहा है और इसके सकारात्मक परिणाम होंगे। इंनवेस्टमेंट बोर्ड के नवनियुक्त सीईओ सुशील भट्टा ने कोरोना महमारी के कारण लघु उद्योग के क्षेत्र में आने वाली चुनौतियों के बारे में बताया। उन्होंने नेपाल की अर्थव्यवस्था और रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए लघु उद्योग के क्षेत्र की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र के लोगों के बीच जागरुकता लाने और इनके कला कौशल को निखारने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि इन्हें तकनीक का ज्ञान होना जरूरी है जिससे क्षंत्रीय और वैश्विक स्तर पर यह लोग अपनी पहचान बना सकें। नेपाल में भारतीय दूतावास के वाणिज्यिक प्रतिनिधि कपिधवाजा प्रताप सिंह ने कहा कि हाल ही में नेपाल और भारत के बीच आयात और निर्यात दोनों से संबंधित व्यापार कोरोना के समय के पहले से 85 प्रतिशत हो गया है। उन्होंने इस बात पर बल दिया कि भारत के अधिकांश आयातक नेपाल के निर्यातकों पर निर्भर हैं। उन्होंने कहा कि स्थानीय स्तर का व्यापार तेज गति से हो रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/सुप्रभा सक्सेना-hindusthansamachar.in