चीनी सेक्स टाॅय की मांग में जबर्दस्त वृद्धि
चीनी सेक्स टाॅय की मांग में जबर्दस्त वृद्धि
दुनिया

चीनी सेक्स टाॅय की मांग में जबर्दस्त वृद्धि

news

नई दिल्ली , 23 जुलाई। कोरोना वायरस के चलते शारीरिक दूरी की वजह हो या अकेलेपन का अहसास, जो भी हो पर पिछले दो-तीन महीनों में अचानक चीन समेत वैश्विक बाजार में सेक्स टाॅय की मांग बढ़ गई है। चीनी उद्योग से प्राप्त आकड़ों के अनुसार भले ही चीन की अर्थव्यवस्था अभी पटरी पर नहीं लौटी हो, लेकिन सेक्स टाॅय बनाने वाली कंपनियों के पास इतने आर्डर है कि उन्हें पूरा करने के लिए उन्हें दो-दो शिफ्ट में काम करना पड़ रहा है। चीनी मीडिया के अनुसार इस वर्ष सेक्स टाॅय के निर्यात में लगभग 50 फीसदी की वृद्धि हुई है। चीनी सेक्स टाॅय का सबसे बड़ा खरीददार इटली है। जहां पिछले साल के मुकाबले इस साल पांच गुना सेक्स डाॅल चीन ने निर्यात किए हैं। चीनी कंपनी विओलेट डू के सेक्स टाॅय की विदेशों में बिक्री इतनी बढ़ गई है कि वह पूर्ति के लिए दो दो शिफ्ट में काम करवा रही है। फरवरी के मुकाबले इस समय इसके सेक्स टाॅय की मांग 400 फीसदी बढ़ चुकी है। चीनी कंपनियां अपने सेक्स टाॅय फ्रांस, अमेरिका, ब्रिटेन, न्यूजीलैंड, आस्ट्रेलिया और इटली में सबसे ज्यादा बेच रही हैं। चीन की सेक्स टाॅय बनाने वाली कंपनियों के अनुसार लाॅक डाउन के कारण उनके उत्पाद की मांग ज्यादा बढ़ गई है, लोग अपने पार्टनर के साथ इस कारण सेक्स नहीं कर रहे हैं कि कहीं कोरोना वायरस से संक्रमित ना हो जाएं। डांगुआन की सेक्स टाॅय कंपनी ऐबेई सेक्स डाॅल ने भी अपना उत्पादन बढ़ा दिया है। उसके बावजूद वह मांग पूरा नहीं कर पा रही है। चीन भी एक पारंपरिक समाज वाला देश है। वहां सेक्स टाॅय की घरेलू खफत ज्यादा नहीं है लेकिन कोविड 19 के कारण एक नया बाजार चीन में भी बनने लगा है। चीनी उद्योग के आकड़े के अनुसार ऐबेई हर महीने 1,500 सेक्स डाॅल का उत्पादन कर रही है। एक डाॅल की कीमत 2,200 से लेकर 3,600 युयान तक है। भारतीय रुपये में यह 22,000 से 36,000 तक बनता है। हिन्दुस्थान समाचार/बिक्रम/जितेन-hindusthansamachar.in