If the 12-point demands are not met, the Bharatiya Mazdoor Sangh will demonstrate on the 12th
If the 12-point demands are not met, the Bharatiya Mazdoor Sangh will demonstrate on the 12th
news

12 सूत्रीय मांगे पूरी नही किए जाने पर भारतीय मजदूर संघ करेगा 12 को प्रदर्शन

news

जगदलपुर, 09 जनवरी (हि.स.)। भारतीय मजदूर संघ ने विद्युत वितरण कंपनी के परिचालकों की 12 सूत्रीय मांगे 12 जनवरी तक पूरी नही किए जाने सहित समस्याओं का निराकरण नही होने पर विद्युत वितरण कंपनी के परिचालक 12 जनवरी को सुबह 10 से 05 बजे तक ईडी कार्यालय के समक्ष धरना-प्रदर्शन करेंगे, जिसकी जिम्मेदारी विभाग एवं ठेकेदार की होगी। शनिवार को विद्युत वितरण कंपनी के कार्यपालक निदेशक को ज्ञापन सौपकर इसकी जानकारी दी गई है। भारतीय मजदूर संघ के संयुक्त महामंत्री घनश्याम देशमुख ने बताया कि बस्तर संभाग में बाहरी स्रोत ठेकेदार शरद किशोर श्रीवास्तव के अनुबंध में पदस्थ सभी विद्युत केंद्र ठेका परिचालकों को हो रही समस्या व ठेकेदार द्वारा किए जा रहे शोषण को लेकर विभागीय अधिकारियों को पूर्व में कई बार पत्राचार एवं मौखिक रूप से अवगत कराया गया, किंतु आज तक किसी भी समस्या का निराकरण नहीं किया गया है। उन्होंने बताया कि परिचालकों की समस्याओं में भारतीय श्रम कानून के तहत कमर्चारी भविष्य निधि 13 प्रतिशत ठेकेदार के द्वारा वेतन से कटौती की जाती है, जिसे ठेकेदार के द्वारा आज तक जमा नहीं किया गया। कुछ कर्मचारियों का यूनिवर्सल खाता संख्या भी आज तक ठेकेदार ने जारी नहीं किया है। इसके लिए ठेकेदार से पत्राचार किया गया पर जानकारी आज तक अप्राप्त है। कर्मचारी राज्य बीमा एक्ट के तहत परिपत्र किसी भी कर्मचारी को जारी नहीं किया गया है। निविदा पत्र के कंडिका 24 के अनुसार सभी ठेका परिचालकों को कार्यभार ग्रहण के 15 दिन में ठेकेदार द्वारा पहचान पत्र जारी करना था, जो कि 02 वर्ष बाद भी जारी नही किया गया है। निविदा पत्र के कंडिका 36 के अनुसार टॉर्च, रबर सोल शूज तथा रेनकोट ठेकेदार द्वारा उपलब्ध नहीं कराया गया है। न्यूनतम वेतन छग नियम 1958 के नियम 29 दो के प्रावधान अनुसार ठेकेदार नियोजित ठेका श्रमिकों को निर्धारित प्रपत्र 12 में वेतन पर्ची प्रदान किया जाना चाहिए, जिसका उल्लंघन ठेकेदार द्वारा बार-बार किया जा रहा है। बोनस की धारा 1965 के तहत तथा निविदा पत्र के अनुसार ठेका परिचालकों को दीवाली त्योहार के उपलक्ष्य में बोनस राशि प्रदान किया जाना चाहिए, लेकिन ठेकेदार द्वारा प्रदान नहीं किया गया है। विद्युत वितरण कंपनी के कार्यपालक निदेशक जेएस नेताम ने बताया कि ठेका कर्मियों ने ज्ञापन के माध्यम से अपनी बातों से अवगत कराया है, समस्याओं के शीघ्र ही निराकरण का प्रयास किया जा रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/राकेश पांडे-hindusthansamachar.in