बड़ी खबरें

हिंदी दिवसः हिंदी के ये नए हीरो भी कह रहे, खुलकर बोल

हिंदी दिवसः हिंदी के ये नए हीरो भी कह रहे, खुलकर बोल

ज कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म हैं जहां हिंदीभाषी अपने विचारों की अभिव्यक्ति कर सकते हैं लेकिन कुछ साल पहले तक ऐसा नहीं था। केवल अंग्रेजी जानने वाले ही इंटरनेट पर अपनी बात कह पा रहे थे। तब पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर आलोक कुमार ने हिंदी का पहला ब्लॉग बनाया। वे प्रथम हिंदी ब्‍लॉगर के रूप में जाने जाते हैं। ब्‍लॉग को उसका हिंदी नाम 'चिट्ठा' देने का श्रेय भी आलोक को जाता है। हिंदी का सबसे पहला ब्‍लॉग 'नौ दो ग्‍यारह' है जिसे आलोक कुमार ने 21 अप्रैल 2003 को शुरू किया था। आज हिंदी के 50 हजार से अधिक ब्लॉग ऐसे हैं जो नियमित अपडेट किए जाते हैं।
naidunia.jagran.com
पूरी स्टोरी पढ़ें »

©Copyright Indicus Netlabs 2018. Raftaar ® is a registered trademark of Indicus Netlabs Pvt. Ltd.