कोरोना से निपटने के लिए हिमाचल प्रदेश में लगाया गया कर्फ्यू
कोरोना से निपटने के लिए हिमाचल प्रदेश में लगाया गया कर्फ्यू
news

कोरोना से निपटने के लिए हिमाचल प्रदेश में लगाया गया कर्फ्यू

news

कोरोना से निपटने के लिए हिमाचल प्रदेश में लगाया गया कर्फ्यू शिमला, 24 मार्च (हि.स.)। हिमाचल सरकार ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए पूरे राज्य में मंगलवार को कर्फ्यू लगाने का ऐलान कर दिया है। पंजाब और महाराष्ट्र के बाद ऐसा बड़ा कदम उठाने वाला यह देश का तीसरा राज्य है। एक वीडियो संदेश में मुख्यमंत्री जयराम ने कहा कि कोरोना वायरस के दृष्टिगत पूरे प्रदेश में मंगलवार सांय 5 बजे से आगामी आदेशों तक कर्फ्यू लगाया गया है। उन्होंने कहा कि यह निर्णय मंत्रिमंडल के सदस्यों व प्रदेश सरकार के अधिकारियों के साथ राज्य में कोरोना की स्थिति की समीक्षा करने के बाद लिया गया। उन्होंने कहा कि राज्य में लॉकडाउन के दौरान लोग नियमों के पालन में लापरवाही बरत रहे थे। ऐसे में प्रदेशवासियों के व्यापक हित में यह कदम उठाया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कर्फ्यू के दौरान जिला प्रशासन के साथ प्रभावी एवं बेहतर समन्वय के लिए जिला स्तरीय समन्वयन समिति गठित की गई है, ताकि राज्य के लोगों को किसी भी प्रकार की कठिनाई का सामना न करना पड़े और आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित हो। उन्होंने कहा कि कांगड़ा जिला की जिला स्तरीय समिति का नेतृत्व हिमाचल प्रदेश विधान सभा के अध्यक्ष विपिन सिंह परमार करेंगे। मण्डी जिला का नेतृत्व जल शक्ति मन्त्री महेन्द्र सिंह, शिमला और किन्नौर जिला का शिक्षा मन्त्री सुरेश भारद्वाज, बिलासपुर जिला का शहरी विकास मन्त्री सरवीन चौधरी, लाहौल-स्पीति जिला का कृषि मन्त्री डाॅ. रामलाल मारकण्डा, ऊना जिला का ग्रामीण विकास मन्त्री वीरेन्द्र कंवर, हमीरपुर जिला का उद्योग मन्त्री बिक्रम सिंह, कुल्लू जिला का वन मन्त्री गोविन्द ठाकुर, सोलन जिला का सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मन्त्री डाॅ. राजीव सैजल, चम्बा जिला का विधान सभा उपाध्यक्ष हंस राज और सिरमौर जिला की जिला स्तरीय समिति का नेतृत्व पूर्व विधान सभा अध्यक्ष डाॅ. राजीव बिंदल करेंगे। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को राज्य में आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। इसके अतिरिक्त राज्य में कोरोना वायरस को फैलने से बचाव के लिए लागू कर्फ्यू के कारण लोगों को किसी भी प्रकार की असुविधा न हो यह भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि राज्य में आवश्यक वस्तुओं की जमाखोरी की निगरानी के लिए प्रभावी कदम उठाए जा रहे हैं। उल्लेखनीय है कि हिमाचल में अब तक कोरोना वायरस से एक व्यक्ति की मौत हुई है। दो लोग कोरोना से संक्रमित हैं, जिनका कांगड़ा के टांडा अस्पताल में उपचार चल रहा है। तिब्बती मूल के 69 वर्षीय बुजुर्ग ने पिछले कल सोमवार को टांडा में दम तोड़ा। वह अमेरिका की यात्रा कर धर्मशाला लौटा था। हिन्दुस्थान समाचार/उज्ज्वल/सुनीत-hindusthansamachar.in