31 को शादी, गोवा में फंसा हिमाचल का दूल्हा ,केंद्र और प्रदेश सरकार से अपने घर लौटने के लगाई गुहार
31 को शादी, गोवा में फंसा हिमाचल का दूल्हा ,केंद्र और प्रदेश सरकार से अपने घर लौटने के लगाई गुहार
news

31 को शादी, गोवा में फंसा हिमाचल का दूल्हा ,केंद्र और प्रदेश सरकार से अपने घर लौटने के लगाई गुहार

news

31 को शादी, गोवा में फंसा हिमाचल का दूल्हा केंद्र और प्रदेश सरकार से अपने घर लौटने के लगाई गुहार मंडी , 27 मार्च (हि. स.)। कोरोना वायरस के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देशभर में लगाए गए कर्फ्यू के चलते गोवा में हिमाचल के 500 युवा फंस गए है। इनमे दो युवाओं कि शादी है इसी माह और दूसरे की अप्रैल माह में है। इनमे विशाल निवासी छतरी तहसील जंजैहली की शादी 31 मार्च और सरोच कुमार निवासी गुशेनी तहसील बंजार की शादी 11 अप्रैल को होनी है। अब इसे में दूल्हा समेत अन्य 500 युवा अपने घर नहीं लौट पा रहे है। इससे युवाओं और उनके परिजनों कि समस्या बढ़ गई है। युवाओं ने केंद्र और प्रदेश सरकार से अपने घर हिमाचल लौटने की गुहार लगाई है। युवाओं ने कहा है केंद्र और प्रदेश सरकार हमारे घर लौटने का प्रावधान करें। ताकि वे अपने घर लौट सके और अपनी शादी रचा सके। जानकारी के अनुसार ये युवा अप्रैल व मई के महीने में सीजन के दौरान पैसे कमाने के लिए गोवा सहित अन्य देश में चले जाते है। वहीं मार्च व अप्रैल माह में अपने घर को लौट जाते है। युवाओं का यही सिलसिला लगभग चार व पांच सालों से लगातार चलता आ रहा है। लेकिन इस वर्ष कोरोना वायरस से बचाव को लेकर लगे कर्फ्यू के चलते ये युवा गोवा में ही फंस गए है। इससे उनकी परेशानियां बढ़ गई है। हालांकि केंद्र और प्रदेश सरकार के अलग अलग देशों में फंसे हिमांचलियो को घर वापस आने के लिए कोई प्रावधान नहीं किया है। देश में बसो और ट्रेन पर रोक लगाने के बाद ये युवा अपने वतन नहीं लौट सके है। युवाओं के परिजनों में नरोतम सिंह, भीम सेन, शेर सिंह, सागर, दिले राम, तारा चंद ने केंद्र और प्रदेश सरकार से गोवा में फंसे अपने बेटो को घर पहुंचने का प्रावधान करने की मांग की है। गोवा से चंडीगढ़ के लिए ट्रेन में बुक करवाया था टिकट : नीतिश, योग राज, उमेश, यादव, समीर, सोहन, टेक सिंह सहित अन्य ने बताया कि उन्होंने घर लौटने को लेकर गोवा से चंडीगढ़ आने वाली ट्रेन में अपनी टिकेट भी बुक करवाई थी। यह ट्रेन 24 मार्च को गोवा से चलनी थी। लेकिन देशभर में फैले कोराना वायरस के चलते इसे रद के दिया गया। अब वापस घर लौटने का को प्रावधान न होने से ये युवा फंस गए है। हिन्दुस्थान समाचार/मुरारी/सुनील-hindusthansamachar.in