राकेश-कुमार-मालवीय-पढ़े-लिखे-होने-का-क्या-मतलब |Haryana Government Panchayat Elections Compulsion Education राकेश कुमार मालवीय मतलब Hindi Latest News 

Breaking News

बड़ी खबरें

राकेश कुमार मालवीय : पढ़े-लिखे होने का क्या मतलब?

राकेश कुमार मालवीय : पढ़े-लिखे होने का क्या मतलब?

हमें साक्षर होने और शिक्षित हो जाने के बारीक लेकिन बेहद जरूरी अंतर को समझना पड़ेगा। हर साक्षर व्यक्ति शिक्षित हो ही यह जरूरी नहीं और हर शिक्षित व्यक्ति साक्षर हो यह भी कतई जरूरी नहीं। मध्यप्रदेश का बालाघाट जिला बच्चों के टीकाकरण में अन्य साक्षर जिलों से आगे है। 2001 में यहां हजार पुरुषों पर 1022 स्त्रियां थीं उस वक्त यहां की साक्षरता दर 66 प्रतिशत पर अटकी थी। बस्तर के घोटुल को दुनिया का पहला व्यवस्थित को एड स्कूल कहते हैं। यह अब से कुछ साल पहले तक अपने स्वरूप में जिंदा था। हां यहां कोई दर्जा नहीं होता था  लेकिन स्त्री—पुरुष संबंधों और जिंदगी जीने की शिक्षा उस दौर में कहीं और नहीं
khabar.ndtv.com
पूरी स्टोरी पढ़ें »

khabar.ndtv.com से अधिक समाचार