हरदेव सिन्हा की मौत कांग्रेस के गलत व युवा बेरोजगार विरोधी नीतियों का ही परिणाम : बृजमोहन अग्रवाल
हरदेव सिन्हा की मौत कांग्रेस के गलत व युवा बेरोजगार विरोधी नीतियों का ही परिणाम : बृजमोहन अग्रवाल
news

हरदेव सिन्हा की मौत कांग्रेस के गलत व युवा बेरोजगार विरोधी नीतियों का ही परिणाम : बृजमोहन अग्रवाल

news

रायपुर, 23 जुलाई (हि.स.)। भाजपा विधायक एवं पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने मुख्यमंत्री निवास के बाहर अपने ऊपर आग लगाने वाले युवक हरदेव सिन्हा की मौत पर उनके परिवार के प्रति गहरी संवेदना व दुख व्यक्त करते हुए इस मौत के लिए राज्य के कांग्रेस सरकार को दोषी ठहराते हुए कहा कि इस बेरोजगार युवक के मौत के पीछे सीधे- सीधे सरकार की नाकामी है। सरकार 40 से 50 प्रतिशत जले इस युवक को पहले काम नहीं दे पाई और न बाद में उनकी जान ही बचा पाई । श्री अग्रवाल ने गुरुवार को कांग्रेस के ऊपर तीखे आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार प्रदेश के बेरोजगार युवकों को आर्थिक तंगी का हवाला देते हुए रोजगार व नौकरियां नहीं दे पा रही है। अनियमित कर्मचारियों को रेगुलर करने के बजाय काम से निकाल रही है । वही अपने पार्टी के कई दर्जन बेरोजगारों की बेरोजगारी दूर करने, आर्थिक तंगी के बीच संसदीय सचिव निगम , मंडल आयोग में नियुक्ति दे रही है। प्रदेश का युवा जानना चाहते हैं, जब उनके नौकरी के लिए पैसे नहीं है , प्रदेश में आर्थिक तंगी है तो इन सब लोगों के लिए पैसे कहां से आएंगे। श्री अग्रवाल ने कहा कि हरदेव सिन्हा की मौत कांग्रेस के गलत व युवा बेरोजगार विरोधी नीतियों का ही परिणाम है । कांगेस सरकार ने प्रदेश के बेरोजगारों के साथ छल किया। बेरोजगारों को नौकरी देने के बजाय उनकी नौकरिया छीनी है। निगम मंडल आयोग में वर्षों से काम कर रहे लोगों को वित्तीय स्थिति का रोना रोकर घरों में बैठाया जा रहा है। सब इंस्पेक्टर ,आरक्षक, व्याख्याता एवं शिक्षक भृत्य सहित अनेक विभागों के पदों की भर्ती प्रक्रिया जो पूरी हो गई थी उन्हें भी या तो निरस्त कर दिया गया या रोक दिया गया है। कई विभाग ने तो रिजल्ट तक घोषित कर दिया था ,उन भर्तियों को भी निरस्त कर दिया गया । पुलिस भर्ती में तो सरकार हाईकोर्ट के आदेश व निर्देश का भी पालन नही कर रही ही । 2500 रुपये महीना बेरोजगारी भत्ता का ख्वाब दिखाकर युवाओं से वोट तो लिया पर उसके बाद उन युवाओं की ओर देखना भी इन्हें पसंद नही है । कांग्रेस सरकार ने पिछले डेढ़ सालों में ना तो बेरोजगारों को बेरोजगारी भत्ता दिया और ना ही किसी प्रकार से बेरोजगार युवाओं के रोजगार के लिए प्रयास किया । बल्कि भाजपा सरकार के समय जारी भर्ती प्रक्रिया जो कई विभाग ने पूर्ण कर ली थी उसे या तो रोक दिया या निरस्त कर दिया । जिससे बेरोजगारों के मन में अपने भविष्य के प्रति चिंता व कुंठा ग्रसित हो रहे है। श्री अग्रवाल ने मृत युवक के गरीब परिवार को एक करोड़ रुपए का आर्थिक मुआवजा व परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की मांग की है। हिन्दुस्थान समाचार / केशव-hindusthansamachar.in