मप्र के ग्वालियर अंचल को मिल जाएगी 07 दिन में कोरोना सैंपल लेब जीआरएमसी हो रहा तेजी से काम Hindi Latest News 

बड़ी खबरें

मप्र के ग्वालियर अंचल को मिल जाएगी 07 दिन में कोरोना सैंपल लेब, जीआरएमसी में हो रहा तेजी से काम

मप्र के ग्वालियर अंचल को मिल जाएगी 07 दिन में कोरोना सैंपल लेब, जीआरएमसी में हो रहा तेजी से काम

मप्र के ग्वालियर अंचल को मिल जाएगी 07 दिन में कोरोना सैंपल लेब, जीआरएमसी में हो रहा तेजी से काम ग्वालियर, 26 मार्च (हि.स.)। मध्य प्रदेश भी देश के कई राज्यों तरह इस वक्त कोरोना त्रासदी झेल रहा है, जिसके चलते प्रदेश में स्पेशल लेब की कमी के कारण कोविड-19 से संक्रमित लोगों की जांच रिपोर्ट अभी तुरंत नहीं आ

पा रही, ऐसे में ग्वालियर अंचल में कोरोना मरीजों के जांच परिणाम तुरंत मुहैया कराने के लिए अब गजरा राजा मडिकल कॉलेज(जीआरएमसी) ने अपनी तैयारियां आरंभ कर दी हैं, जिसके बाद संभावना है कि अगले सप्ताह किसी भी दिन से यहां पर कोविड-19 की जांच रिपोर्ट तैयार होना शुरू हो जाएगा। ग्वालियर में अभी इससे संबंधित सभी जांचे डीआरडीओ में हो रही हैं । इस संबंध में गजराराजा मेडिकल कॉलेज (समूह) के सहायक संचालक डॉ. विनीत चतुर्वेदी ने हिस को बताया कि मेडिकल कॉलेज में इस लेब को बनाने का काम अंतिम चरण में है। इसके लिए स्टाफ की ट्रेनिंग का काम पूरा कर लिया गया है, लेकिन कुछ तैयारियां अभी भी शेष हैं, जिन्हें आगामी सात दिनों में या अधिकतम दस दिनों में पूरा कर लिया जाएगा । उन्होंने बताया कि अभी तक ग्वालियर शहर में एक कोरोना संक्रमित का मामला सामने आया है। शेष दो मामले अंचल के शिवपुरी जिले से जुड़े हैं। उन्होंने यह भी बताया कि फिलहाल कोविड-19 की जांच रक्षा मंत्रालय के ग्वालियर स्थित डीआरडीओ लेब में रहे हैं । उल्लेखनीय है कि ग्वालियर में कोरोना जांच मेडिकल कॉलेज में शुरू होने से अंचल के कई जिलों को इसका सीधा लाभ मिलेगा। पहले शुरूआती दौर में जांच के लिए सैम्पल पुणे (महाराष्ट्र) भेजे जाते थे, जिनकी रिपोर्ट आने में काफी देर लगती थी। बाद में समय की देरी को देखते हुए प्रशासन ने निर्णय लिया कि ग्वालियर स्थित डीआरडीओ लेब में ही कोरोना सेम्पल जांच की इज़ाज़त मिले, जोकि रक्षा मंत्रालय द्वारा दे दी गई थी, सके चलते यहाँ भी जांच शुरू हुई, लेकिन अभी भी रिपोर्ट आने में समय लग रहा है। रिपोर्ट आने में देरी का अंदाजा इससे भी लगाया जा सकता है कि ग्वालियर में अब तक कुल 14 सैम्पल लिए गए हैं जिनमें से सिर्फ 4 लोगों की ही रिपोर्ट आई है तथा शेष 9 की रिपोर्ट प्रतीक्षित है। हिन्दुस्थान समाचार/डॉ. मयंक चतुर्वेदी
... क्लिक »

hindusthansamachar.in

अन्य सम्बन्धित समाचार