अमृतसर के लिए बनेगा ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवेः गडकरी
अमृतसर के लिए बनेगा ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवेः गडकरी
news

अमृतसर के लिए बनेगा ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवेः गडकरी

news

रवीन्द्र मिश्र नई दिल्ली, 02 जून (हि.स.)। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने दिल्ली-अमृतसर एक्सप्रेसवे के हिस्से के रूप में सुल्तानपुर लोधी, गोइंदवाल साहिब, खादूर साहिब के बरास्ते नाकोदर से अमृतसर शहर के लिए एक नए ग्रीनफील्ड सम्पर्क-मार्ग को विकसित करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि अमृतसर से गुरुदासपुर तक की सड़क भी पूरी तरह विकसित होगी और इसे पूरी तरह सिग्नल मुक्त बनाया जाएगा। इसकी वजह से सड़क मार्ग के यात्रियों के पास नाकोदर से गुरुदासपुर से आगे यात्रा करने का विकल्प होगा। वे अमृतसर के रास्ते भी जा सकते हैं और करतारपुर के रास्ते भी। मंत्री ने कहा कि यह ग्रीनफील्ड मार्ग न केवल अमृतसर शहर के लिए बल्कि सुल्तानपुर लोधी, गोइंदवाल साहिब, खादूर साहिब तथा हाल ही में विकसित डेरा बाबा नानक/करतारपुर साहब अंतरराष्ट्रीय गलियारा के लिए भी सबसे छोटा और वैकल्पिक एक्सप्रेस सम्पर्क-मार्ग उपलब्ध कराएगा। गडकरी ने जानकारी दी कि इस एक्सप्रेसवे के साथ अमृतसर से दिल्ली अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की यात्रा की दूरी वर्तमान 8 घंटों से घटकर लगभग 4 घंटे की हो जाएगी। उन्होंने कहा कि यह पंजाब के लोगों की एक चिर प्रतीक्षित मांग को पूरी करेगा। एक्सप्रेसवे के पहले चरण में लगभग 25,000 करोड़ रुपये का निवेश शामिल होगा। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने भारतमाला परियोजना के तहत दिल्ली अमृतसर कटरा एक्सप्रेसवे का विकास आरंभ किया है। एक्सप्रेसवे को जनवरी 2019 में अंतिम रूप दिया गया और भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया आरंभ हो गई। हाल ही में अमृतसर के लिए एक्सप्रेसवे का मुद्दा खाद्य प्रसंस्करण मंत्री हरसिमरत कौर बादल और नागरिक उड्डयन, आवासन तथा शहरी मामले राज्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी द्वारा नितिन गडकरी के समक्ष उठाया गया है। यह मुद्दा सांसद (राज्यसभा) श्वेत मलिक, सांसद (लोकसभा) गुरजीत सिंह औजला, पंजाब सरकार, सिख संगठनों एवं अन्य जन प्रतिनिधियों द्वारा भी उठाया गया। गौरतलब है कि आरंभ में जम्मू-कश्मीर की सरकार ने दिल्ली-कटरा एक्सप्रेसवे का प्रस्ताव रखा था। गडकरी ने परिकल्पना की कि शहर के धार्मिक महत्व को देखते हुए जहां प्रति वर्ष 4 मिलियन से अधिक पर्यटक यात्रा करते हैं, प्रस्तावित एक्सप्रेसवे को अमृतसर से गुजरना चाहिए और इस प्रकार भारतमाला के तहत दिल्ली-अमृतसर-कटरा एक्सप्रेसवे की संकल्पना अस्तित्व में आई। हिन्दुस्थान समाचार-hindusthansamachar.in