पुरानी गल्ला मंडी में सामान्य दिनों की तरह सब्जी खरीद और बेच रहे लोगों को पुलिस ने लाठी के जोर पर खदेड़ा Hindi Latest News 

बड़ी खबरें

पुरानी गल्ला मंडी में सामान्य दिनों की तरह सब्जी खरीद और बेच रहे लोगों को पुलिस ने लाठी के जोर पर खदेड़ा

पुरानी गल्ला मंडी में सामान्य दिनों की तरह सब्जी खरीद और बेच रहे लोगों को पुलिस ने लाठी के जोर पर खदेड़ा

पुरानी गल्ला मंडी में सामान्य दिनों की तरह सब्जी खरीद और बेच रहे लोगों को पुलिस ने लाठी के जोर पर खदेड़ा गुना, 26 मार्च (हि.स.)। कोरोना वायरस के चलते लॉक डाउन का गुरुवार को पांचवा दिन रहा। इस दिन भी बहुत कुछ दृश्य शहर में पिछले चार दिनों से दिख रहे दृश्य की तरह ही रहे। मसलन, शहर के

मुख्य मार्गों सहित अन्य मार्गों पर सन्नाटा पसरा हुआ था, इक्का-दुक्का लोग ही सड़क़ों पर दिखाई दे रहे थे, जगह-जगह बेरीकेट्स लगे होने के साथ पुलिस बल तैनात था, दुकानों के शटर गिरे होने के साथ ही सायरन बजाते पुलिस के वाहन घूम रहे थे, किराना और डेयरी दुकान खुली हुईं थीं। हालांकि कुछ दृश्य ऐसे भी देखने में आए, जो पिछले चार दिनों से नहीं देखे गए थे। इसमें सबसे महत्वपूर्ण रहा पुलिस की सख्ती। इस दौरान पुलिस ने पुरानी गल्ला मंडी स्थित सब्जी मंडी में आम दिनों की तरह सब्जी बेच और खरीद रहे लोगों को लाठियों के जोर पर खदेड़ा तो सडक़ों पर बेवजह घूम रहे लोगों के वाहन भी जब्त किए। अब इन वाहनों को लॉक डाउन की अवधि खत्म होने के बाद वापस किया जाएगा। इसके साथ ही गुुरुवार से नगर पालिका ने शहर को सेनेटाइज करना शुरु कर दिया है। एक दमकल के साथ ही नपा कर्मचारियों द्वारा सेनेटाइज का छिडक़ाव शहर में किया जाता रहा। लॉक डाउन को लेकर पुलिस की सख्ती में एक कार और 27 दोपहिया वाहन शामिल रहे। शहर के जयस्तम्भ चौराहा, हनुमान चौराह सहिरत अन्य स्थानों से एक कार सहित 27 दो पहिया वाहनों को पकडक़र जब्त किया गया। शहर की पुरानी गल्ला मंडी में गुरुवार सुबह कोरोना को दिए गए निर्देशों एवं ऐहतियात की जमकर धज्जियां उड़ती देखने को मिली। वहीं पुरानी गल्ला मंडी जैसा ही दृश्य शास्त्री पार्क सब्जी मंडी में भी देखने को मिला। यहां भी लोगों का हुजूम जमा रहा और आम दिनों की तरह सब्जी खरीदी और बेची जाती रही। बाद में पुलिस ने पहुँचकर लोगों को खदेड़ा। 425 पंचायतों के सचिव मुख्यमंत्री आपदा कोष में देंगे 3 दिन का वेतन कोरोना से बचाव कार्य में सरकार की सहायता करने के लिए मप्र पंचायत सचिव संगठन के तत्वावधान में गुना जिले की 425 पंचायतों के सचिवों ने तीन दिन का वेतन मुख्यमंत्री आपदा कोष में देने की बात कही है। पंचायत सचिव संगठन के जिलाध्यक्ष बृज रघुवंशी ने बताया कि मप्र पंचायत सचिव संगठन के प्रदेशाध्यक्ष दिनेशचन्द्र शर्मा के आव्हान पर जिले की 425 पंचायतों के सचिव अपना तीन दिवस का वेतन करीब 10 लाख रुपए मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा करेगें। इसी तरह प्रदेश के कुल 23 हजार पंचायत सचिव प्रदेश सरकार को कोरोना से निपटने 5 करोड़़ की सहायता देगा। आदेश के बावजूद टोल नाकाओं पर वसूला गया टोल - देश में कोरोनावायरस के संक्रमण को देखते हुए केन्द्रीय सडक़ परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने घोषणा की है कि गुरुवार से अस्थाई तौर पर राष्ट्रीय राजमार्गों पर टोल टैक्स नहीं लगेगा। इस बाबत सभी जगह सूचना भी जारी की गई। इसके बाद भी जिले के टोल नाकों पर टोल टैक्स वसूला गया। जिसके चलते वाहन चालकों और टोलनाका कर्मचारियों के बीच विवाद की स्थिति बन गई। गुना में एलपीजी गैस सिलेंडर लेकर आने वाले ट्रक चालक बलवीर ने बताया कि राघौगढ़ के निकट पगारा टोल नाके पर टोल वसूला गया। हिन्दुस्थान समाचार / अभिषेक/मयंक
... क्लिक »

hindusthansamachar.in

अन्य सम्बन्धित समाचार