लॉकडाउन: मालगाड़ी से जा रहे 50 मजदूरों को इटावा स्टेशन पर करवाया गया भोजन
news

लॉकडाउन: मालगाड़ी से जा रहे 50 मजदूरों को इटावा स्टेशन पर करवाया गया भोजन

news

लॉकडाउन: मालगाड़ी से जा रहे 50 मजदूरों को इटावा स्टेशन पर करवाया गया भोजन इटावा, 27 मार्च (हि.स.)। कोविड:-19 के संक्रमण के कारण देश मे हुए लॉकडाउन के चलते दिल्ली नोयडा और एनसीआर में फंस गए लोग अपने-अपने घरों को जाने के लिए अजीब-अजीब तरीके ढूंढ रहे हैं। कुछ लोग तो संसाधन न मिल पाने की वजह से सैकड़ों किमी. की दूरी पैदल ही तय करके अपने-अपने घरों को जा रहे हैं। कुछ लोग चोरी छिपे दिल्ली से हावड़ा की तरफ जा रही मालगाड़ी के डिब्बों में छुपकर बैठ गए। रेलवे के अधिकारियों को जब इस बात की सूचना मिली तो उन्होंने इटावा रेलवे स्टेशन पर मालगाड़ी को रोककर उनमें बैठे लोगों को उतरवाया और उन्हें खाना खिलाकर उनके घर तक पहुंचाने के लिए उनकी व्यवस्था करवाई। स्टेशन अधीक्षक पूरनमल मीणा ने बताया कि कंट्रोल रूम से जानकारी मिली कि दिल्ली से हावड़ा की ओर जाने वाली मालगाड़ी में कुछ लोग चोरी छिपे बैठकर जा रहे हैं। इस पर रेलवे और जिला प्रशासन के अधिकारियों ने मालगाड़ी को इटावा रेलवे स्टेशन पर रुकवाया और मजदूरों को उतारकर उन्हें खाना खिलवाया। ट्रेन में 50 लोग सवार थे जिनमें लोग प्रतापगढ़, बिजनौर, गोंडा, लखीमपुरखीरी और बिहार के लोग हैं। सभी को उनके घर तक पहुंचाने की जिम्मेदारी जिला प्रशासन को दी गयी है। डिप्टी सीएमओ डॉ. महेश चंद्रा ने बताया कि रेलवे की तरफ से सूचना मिलने के बाद हमारे डॉक्टरों की टीम ने ट्रेन से उतरे पचास लोगों का मेडिकल करवाया है। डॉक्टरों की टीम ने सभी का चिकित्सीय परीक्षण भी किया और इसके बाद उन्हें उनके गंतव्य के लिए रवाना किया गया क्योंकि इनमें से कोई भी कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं पाया गया है। नगरपालिका ईओ अनिल कुमार ने बताया कि रेलवे की तरफ से सूचना मिलने के बाद ट्रेन से उतरे सभी लोगों के खाने की व्यवस्था करवाई गई। सभी को सेनिटाइज्ड करवाया गया है। हिन्दुस्थान समाचार/रोहित/सुनीत-hindusthansamachar.in