फिच ने ‘स्‍टेबल’ से ‘निगेटिव’ किया भारत का ग्रोथ आउटलुक, रेटिंग बीबीबी पर बरकरार
फिच ने ‘स्‍टेबल’ से ‘निगेटिव’ किया भारत का ग्रोथ आउटलुक, रेटिंग बीबीबी पर बरकरार
news

फिच ने ‘स्‍टेबल’ से ‘निगेटिव’ किया भारत का ग्रोथ आउटलुक, रेटिंग बीबीबी पर बरकरार

news

नई दिल्ली, 18 जून (हि.स.)। ग्लोबल रेटिंग एजेंसी फिच रेटिंग्स ने भारत के ग्रोथ आउटलुक को रिवाइज करते हुए निगेटिव कर दिया। इसके पहले फिच ने भारत के लिए स्टेबल आउटलुक की बात कही थी। हालांकि, रेटिंग एजेंसी ने भारत के लिए पहले की ही तरह इशूअर डिफाल्ट रेटिंग बीबीबी-बरकरार रखी है। दरअसल इसके पहले मूडीज ने भी ग्रोथ आउटलुक को घटा दिया था। मूडीज ने भारत की सॉवरेन रेटिंग को ‘बीएए2’ से घटाकर ‘बीएए3’ कर दिया। साथ ही एजेंसी ने देश के लिए निगेटिव आउटुलक को बरकरार रखा है। रेटिंग्स एजेंसी ने गुरुवार को जारी एक बयान में कहा कि कोविड-19 की महामारी से भारत की अर्थव्यवस्था पर गहरा असर पड़ा है, जिससे मौजूदा साल के लिए ग्रोथ आउटलुक कमजोर हुआ है। वहीं, महामहारी के चलते कई तरह की चुनौतियां सामने आई हैं। इतना ही नहीं सरकार पर कर्ज का बोझ बढ़ गया है। फिच का मानना है कि देशव्यापी लॉकडाउन के चलते वित्त वर्ष 2020-21 में इकोनॉमिक एक्टिविटी में 5 फीसदी की गिरावट आ सकती है। लेकिन, वित्त वर्ष 2021-22 में ये तेजी से बाउंसबैक करेगी। फिच का कहना है कि देश में कोविड-19 के मामले बढ़ने की वजह से रिस्क भी बढ़ रहा है। इन बातों को ध्यान रखते हुए ग्रोथ आउटलुक को रिवाइज किया गया है। रेटिंग्स एजेंसी के अनुसार इस साल ग्रोथ निगेटिव रहेगी, लेकिन वित्त वर्ष 2021-22 में ये बाउंसबैक करेगी और 9.5 फीसदी के हिसाब से ग्रोथ कर सकती है। फिच का मानना है कि इसे लो बेस का फायदा मिलेगा। हिन्दुस्थान समाचार/प्रजेश शंकर-hindusthansamachar.in