महाराष्ट्र के स्कूलों के लिए नए पाठ्यक्रम में जलवायु परिवर्तन: आठवीं कक्षा तक पढ़ना पड़ेगा

महाराष्ट्र के स्कूलों के लिए नए पाठ्यक्रम में जलवायु परिवर्तन: आठवीं कक्षा तक पढ़ना पड़ेगा

अगर आप महाराष्ट्र में पढाई करते हैं- तो आपको अपने नए पाठ्यक्रम में जलवायु परिवर्तन पढ़ना पड़ेगा। सरकार ने कक्षा 1 से 8 तक के छात्रों के लिए एक जलवायु परिवर्तन पाठ्यक्रम, 'माझी वसुंधरा' की घोषणा की है। इस प्रयास का उद्देश्य छात्रों को पर्यावरणीय मुद्दों के बारे में जागरूक करना। उन्हें जलवायु परिवर्तन को कम करने के लिए उचित कदम लेने के लिए प्रेरित करना और डिजास्टर मिटिगेशन पर जागरूकता बढ़ाना भी है। पाठ्यक्रम को यूनिसेफ(UNICEF) के समर्थन से तैयार किया गया है और इसमें गतिविधि आधारित शिक्षा के साथ बायोडायवर्सिटी कन्जर्वेशन ,सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट,वाटर मैनेजमेंट, ऊर्जा, वायु, प्रदूषण और जलवायु परिवर्तन शामिल हैं।

Related Stories

No stories found.