एक्सॉन मोबिल को प्रदूषण के मामले में देना पड़ेगा 14.25 मिलियन डॉलर का जुर्माना
एक्सॉन मोबिल को प्रदूषण के मामले में देना पड़ेगा 14.25 मिलियन डॉलर का जुर्माना
एन्वायरमेंट

एक्सॉन मोबिल को प्रदूषण के मामले में देना पड़ेगा 14.25 मिलियन डॉलर का जुर्माना

news

आखिरकार पर्यावरण की जीत और प्रदूषण फैलाने वालों की हार हुई। एक्सॉनमोबिल (एक बड़ी बहुराष्ट्रीय बिलियन डॉलर कंपनी),को कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए कहा कि एक्सॉन को क्लीन एयर एक्ट वॉयलेशन के तहत 14.25 मिलियन डॉलर का जुर्माना भरना पड़ेगा। कोर्ट में यह साबित हो चुका है कि एक्सॉन मोबिल की वजह से बेहद प्रदूषण फैला है, जिसके कारण लोगों को 3,651 दिनों तक सांस से जुडी समस्याओं का सामना करना पड़ा। अमेरिका में यह आज तक का सबसे बड़ा क्लीन एयर एक्ट वॉयलेशन है। प्लेनटिफ (अदालत में किसी पर मुकदमा दायर करने वाली पार्टी) जिन्होंने शेल ऑयल, शेवरॉन फिलिप्स और पासडेना रिफाइनिंग सिस्टम, के खिलाफ सफलतापूर्वक लड़ाई लड़ी है, उनका कहना है कि एक्सॉन के लिए इतना कम जुर्माना भरने की सजा काफी नही है, उन्हें पर्यावरण के लिए भी कार्य करने की जरूरत है।