दुनिया के युवा जलवायु परिवर्तन के लिए सड़कों पर आंदोलन के लिए फिर से तैयार

दुनिया के युवा जलवायु परिवर्तन के लिए सड़कों पर आंदोलन के लिए फिर से तैयार

शुक्रवार, 24 सितंबर को दुनिया भर के हजारों युवा तत्काल जलवायु कार्रवाई की मांग को लेकर सड़कों पर उतरे। यह कोविड-19 महामारी की शुरुआत के बाद से सबसे बड़ा वैश्विक विरोध था, जिसमें सैकड़ों भारतीयों ने भी भाग लिया। कोरोना महामारी के काल में जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए ठोस कदमों की मांग करने वाला स्कूली बच्चों और युवाओं का यह अभियान ऑनलाइन दुनिया में सिमट गया था COP26 समिट से कुछ सप्ताह पहले युवा जलवायु कार्यकर्ताओं ने स्ट्रैटेजिक रूप से विरोध का समय फिक्स किया। युवा जलवायु नेता पेरिस समझौते में निर्धारित पृथ्वी के ताप को अधिकतम 1.5C तक सीमित करने की मांग कर रहे हैं।

अन्य खबरें

No stories found.