कई चीजें पढ़कर बहुत अच्छी लगती हैं, लेकिन पर्दे पर खरी नहीं उतरती है : अर्सलान गोनी

 कई चीजें पढ़कर बहुत अच्छी लगती हैं, लेकिन पर्दे पर खरी नहीं उतरती है : अर्सलान गोनी
many-things-look-good-after-reading-but-do-not-fit-the-screen-arslan-gony

मुंबई, 22 मई (आईएएनएस)। अर्सलान गोनी का कहना है कि एक अभिनेता के तौर पर कई बार ऐसी परियोजनाएं आती हैं, जिन्हें पढ़कर तो अच्छा लगता है, लेकिन पर्दे पर देखकर वे उतनी अच्छी नहीं लगती हैं। यही वजह है कि किसी अच्छे निर्देशक के साथ काम करना किसी कलाकार के लिए क्यों जरूरी होता है। अर्सलान कहते हैं, कई बार कुछ चीजें पढ़कर हमें काफी अच्छी लगती हैं, लेकिन फिल्म बनने के बाद वह पर्दे पर उतनी अच्छी नहीं लगती हैं। इसलिए मेरा मानना है कि निर्देशक की भूमिका काफी अहम होती है। अभिनेता का मानना है कि एक कलाकार की जब बात आती है, तो सभी शैलियों को परखना भी उतना ही जरूरी होता है। अर्सलान के लिए भी फिक्शन या फंतासी के बीच कोई भिन्नता नहीं है। वह कहते हैं, बात जब फिक्शन और फंतासी की आती है, सच कहूं तो मुझे दोनों में काम करना अच्छा लगता है। वह ये भी कहते हैं, मैं ऐसे किरदारों को करना पसंद करूंगा, जिनसे मुझे एक अभिनेता के तौर पर अपना हुनर दिखाने का मौका मिले। मेरे अंदर अभी भी ऐसी कई सारी चीजें हैं, जिन्हें मैं बयां नहीं कर पाया हूं। मैं मुझे देखने से लोगों से वादा करता हूं कि अगर मुझे कभी मौका मिलेगा, तो मैं उन्हें हैरान कर दूंगा। लेकिन इसके लिए किरदार और कहानी दोनों अच्छी होनी चाहिए। --आईएएनएस एएसएन/एएनएम