दुर्ग : खराब हो चुके गोबर को ऑर्गेनिक मैन्योर कहकर किसानों को बेचना गलत, केंद्रीय कृषि मंत्री से करेंगे शिकायत : विजय बघेल

दुर्ग : खराब हो चुके गोबर को ऑर्गेनिक मैन्योर कहकर किसानों को बेचना गलत, केंद्रीय कृषि मंत्री से करेंगे शिकायत : विजय बघेल
durg-selling-spoiled-dung-as-organic-manure-to-farmers-is-wrong-will-complain-to-union-agriculture-minister-vijay-baghel

दुर्ग, 09 जून (हि. स.)। सांसद विजय बघेल ने कहा कि भूपेश सरकार द्वारा खराब हो चुके गोबर को प्राथमिक साख सहकारी समितियों के माध्यम से किसानों को जबरदस्ती बेचा जा रहा है। भूपेश सरकार द्वारा खराब गोबर को गोबर खाद/ऑर्गेनिक मैन्योर के नाम पर बेचा जा रहा है, जिसके मानक का कोई ठिकाना नहीं है, यह एक अमानक खाद है। जिसे जबरदस्ती किसानों को खरीदने के लिए मजबूर किया जा रहा है। गोधन न्याय योजना के अंतर्गत राज्य सरकार ने 44 हजार टन गोबर खरीदा इसमें से केवल एक हजार टन से ही वर्मी कंपोस्ट बनाया गया। बाकी 43 हजार टन गोबर कु-प्रबंधन और अव्यवस्था के चलते खराब हो गया, जिसके नुकसान की भरपाई भूपेश सरकार गरीब किसानों से करना चाहती है। सांसद विजय बघेल ने बुधवार को बयान जारी कर कहा कि खराब हो चुके गोबर को रसायन युक्त वेस्ट-डीकंपोजर के द्वारा खाद में बदलने का उपक्रम किया जा रहा है। भूपेश सरकार जैविक खाद के नाम पर खराब गोबर को रासायनिक ट्रीटमेंट करके सोसायटियों में कहीं 6 तो कहीं 10 रुपये किलो में बेच रही है जो कि छत्तीसगढ़ के किसानों के साथ घोर अन्याय है जिसका प्रबल विरोध किया जाएगा। सांसद ने कहा कि यह खाद कौन सी राष्ट्रीय स्तर की प्रतिष्ठित लेबोरेटरी में जांच द्वारा प्रमाणित कराई गई है, इसे भूपेश सरकार ने कहीं भी स्पष्ट नहीं किया है। इस खाद की पैकिंग भी एकदम अनुपयुक्त है। इसे सीमेंट की बोरियों में तो कहीं अनाज की बोरियों में भरकर बेचा जा रहा है। बघेल ने कहा कि सोसायटियों में डीएपी, यूरिया व पोटाश खरीदने के लिए पहुंच रहे किसानों को अमानक खाद खरीदने के लिए मजबूर किया जा रहा है। विजय बघेल ने किसानों को आश्वस्त किया कि किसान भयभीत हुए बिना भूपेश सरकार के इस कदम का विरोध करें वे उनके साथ खड़े हैं। विजय बघेल ने समस्त भाजपा कार्यकर्ताओं से भी भूपेश सरकार के इस किसान विरोधी कृत्य का विरोध करने का आह्वान किया। सांसद विजय बघेल ने कहा कि बिना लेबोरेटरी जांच का गुणवत्ताहीन और खतरनाक रसायन मिश्रित खराब गोबर फसलों के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है। राज्य सरकार द्वारा गोबर की जैविक खाद के नाम पर खतरनाक रसायनयुक्त खराब गोबर को बेचे जाने की शिकायत केंद्रीय कृषि मंत्री से करेंगे और इसकी जांच की मांग उठाएंगे। हिन्दुस्थान समाचार/अभय जवादे