सिवनीः क्वारेंटाइन होगा अदालत का पूरा स्टाफ, जिला न्यायाधीश ने दिये आदेश
सिवनीः क्वारेंटाइन होगा अदालत का पूरा स्टाफ, जिला न्यायाधीश ने दिये आदेश
news

सिवनीः क्वारेंटाइन होगा अदालत का पूरा स्टाफ, जिला न्यायाधीश ने दिये आदेश

news

सिवनी, 09 जून(हि.स.)। जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने व्यवहार न्यायालय वर्ग-1 के पूरे स्टॉफ को क्वारेंटाइन किए जाने के आदेश दिये हैं। व्यवहार न्यायालय का एक कर्मचारी ऐसे अधिवक्ता के संपर्क में आया था, जो कोरोना पॉजीटिव रोगी के कांटेक्ट में आया था। जिसके बाद कर्मचारियों की सुरक्षा और महामारी को फैलने से रोकने के लिए जिला न्यायालय ने ये आदेश दिये हैं। जिला न्यायाधीश का उक्त आदेश सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार द्वितीय व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-1 के न्यायालय का एक कर्मचारी अपनी पत्नी और बच्चों से मिलने के लिए ससुराल गया था, जहां वह अपने अधिवक्ता साले के संपर्क में आया। कर्मचारी का साला एक ऐसे रोगी के संपर्क में आया था, जिसे हाल ही में नागपुर में कोरोना पॉजीटिव पाया गया है। इस दौरान उक्त कर्मचारी न्यायालय में अपनी ड्यूट पर भी आता रहा है। लेकिन साले के कोरोना पॉजीटिव रोगी के संपर्क में आने की बात पता चलने पर कर्मचारी ने यह बात द्वितीय व्यवहार न्यायाधीश को बताई। जिसके बाद व्यवहार न्यायाधीश ने इसकी जानकारी जिला एवं सत्र न्यायाधीश को देते हुए पत्र लिखकर मार्गदर्शन चाहा था। इसी पत्र के आधार पर जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने सोमवार को पूरे स्टाफ को क्वारेंटाइन करने के आदेश जारी कर दिये। जिला न्यायाधीश का उक्त आदेश सोमवार देर रात्रि में सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। वहीं, जिला न्यायाधीश के आदेशानुसार व्यवहार न्यायालय का समस्त स्टाफ क्वारेंटाइन हो गया है, जिसके चलते मंगलवार को न्यायालय नहीं खुला। शासकीय अधिवक्ता नेतराम चौरसिया ने बताया कि अर्जेन्ट मामलों की सुनवाई के लिए अन्य न्यायालयों में व्यवस्था की गई है। हिन्दुस्थान समाचार/रवि/केशव-hindusthansamachar.in