कोरोना के बढ़ते प्रकोप चलते धर्मनगरी की मस्जिदों में लगे ताले Hindi Latest News 

बड़ी खबरें

कोरोना के बढ़ते प्रकोप के चलते धर्मनगरी की मस्जिदों में लगे ताले

कोरोना के बढ़ते प्रकोप के चलते धर्मनगरी की मस्जिदों में लगे ताले

वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव के लिए धर्म नगरी की सभी मस्जिदों में लगे ताले मौलानाओं ने नमाजियों से की घरों में नमाज अदा करने का जारी किया फरमान चित्रकूट, 26 मार्च (हि.स.)। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को दृष्टिगत रखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किये गये लाक डाउन के आह्वान का धर्म नगरी चित्रकूट में व्यापक

असर देखने को मिला रहा है। कोरोना महामारी के खतरे से निपटने के लिए पहले जहां क्षेत्र के प्रमुख मठ-मंदिरों के पट बंद कर दिये गये थे। वही गुरुवार से मौलानाओं द्वारा मस्जिदों के गेट पर ताला लगाकर नमाजियों से घर में ही नमाज अता कर खुदा की इबादत करने का फरमान जारी किया है। आदि तीर्थ चित्रकूट सदियों से धार्मिक सद्भावना एवं भाई-चारे की प्रतीक रही है। देश में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए लॉक डाउन का असर राजा राम की तपोभूमि चित्रकूट में देखने को मिल रहा है। सड़कों पर चारों ओर सन्नाटा पसरा हुआ है। डीएम शेषमणि पांडेय और पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल भारी फोर्स के साथ सड़कों पर मुस्तेद रहकर लोगों को कोरोना वायरस के खतरे से आगाह करते हुए घरों में रहने की अपील कर रहे हैं।इसके अलावा लोगों को किसी प्रकार की दैनिक उपयोग की वस्तुओं की किल्लत ना हो, इसके लिए मोबाइल वैैनों को लगाकर घर-घर तक आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति शुरू करा दी गई है। आपको बता दें कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के खतरे को भापते हुए उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा पहले ही धर्मनगरी चित्रकूट के प्रमुख भगवान कामतानाथ एवं मंदाकिनी के रामघाट स्थित स्वामी मतगयेन्द्र नाथ समेत सभी प्रमुख मंदिरों को आम दर्शनार्थियों एवं तीर्थ यात्रियों के लिए बंद कराया जा चुका हैं। इसके अलावा तीर्थ क्षेत्र के सारे होटलों और लाजों को पहले ही बाहरी तीर्थ यात्रियों से लॉक डाउन लागू होने से खाली कराया जा चुका था। इसी वजह से चैत्र मास की अमावस्या पर धर्म नगरी चित्रकूट में पूरी तरह से सन्नाटा पसरा रहा है। वही गुरुवार को चित्रकूट के सभी मौलानाओं ने कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को भांपते हुए बचाव के मद्देनजर सभी मस्जिदों के दरवाजों पर ताला लगा दिया है। साथ ही सभी नमाजियों से घरों में ही नमाज अदा कर खुदा की इबादत करने का फरमान जारी किया है। जामा मस्जिद के हाफिज उबैद अली, नूरानी मस्जिद के मुफ़्ती सलाउद्दीन एवं काजीयाना मस्जिद के हाफिज मुजीब का कहना है कि देश वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के खतरे से जूझ रही है। ऐसी विषम परिस्थितियों में सभी को प्रधानमंत्री द्वारा लागू किए गए लाक डाउन के नियमों का पालन करना चाहिए। उन्होंने खतरे से बचने के लिए नमाजियों से मस्जिदों की बजाए घरों में रहकर नमाज अता कर देश की कोरोना वायरस जैसी महामारी से सलामती की दुआ मांगने की गुजारिश की है। पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल ने बताया कि चित्रकूट जिले की सभी मस्जिदों मे नमाज अता करने पर रोक लगा दी गई है। सभी नामीजियों से घरों से ही नमाज अता करने की अपील की गई है। एसपी का कहना है कि सोशल डिस्टेंस मेंटेन करके ही कोरोना वायरस के संक्रमण को बढ़ने से रोका जा सकता है। इसलिए सभी को खतरे से बचने के लिए भारी एतिहात बरतने की जरूरत है। एसपी ने चेतावनी देते हुए कहा कि लॉक डाउन के नियमों का उलंघन करने वालों से पुलिस सख्ती से निपटेगी। बिना किसी जरूरी काम के सड़कों पर घूमते पाए जाने वाले लोगों के खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जेल भेजा जाएगा। हिन्दुस्थान समाचार/रतन/मोहित
... क्लिक »

hindusthansamachar.in

अन्य सम्बन्धित समाचार