धमतरी:बीस हजार कट्टा धान मंडी में, खरीदने नहीं पहुंचे व्यापारी

धमतरी:बीस  हजार कट्टा धान मंडी में, खरीदने नहीं पहुंचे व्यापारी
dhamtari-twenty-thousand-kattas-in-paddy-market-traders-did-not-arrive-to-buy

धमतरी,24 मई ( हि. स.)।किसानों के रबी धान को खरीदने सोमवार 24 मई को मंडी खुली रही, लेकिन धान खरीदने व्यापारी व आढ़तिया नहीं पहुंचे। काम करने वाले हमाल व रेजा भी नहीं पहुंचे। जबकि कुछ किसान धान लेकर पहुंचे हुए थे, खरीदी बिक्री नहीं होने से वे भी मायूस होकर चले गए। जिला कृषि उपज मंडी श्यामतराई धमतरी में दस अप्रैल से अब तक मंडी परिसर में बिक्री के लिए 20 हजार कट्टा धान शेड के नीचे रखा हुआ है, लेकिन कोरोना संक्रमण व लाकडाउन के चलते मंडी बंद होने से खरीदी बिक्री पूरी तरह से बंद है। रबी धान फसल की कटाई-मिंजाई होने के बाद लाकडाउन के चौथे चरण पर कई शर्तों के बीच जिला प्रशासन ने मंडी खोलकर धान खरीदी करने आदेश दिया है। शासन के आदेशानुसार 24 मई को मंडी प्रशासन ने धान खरीदी के लिए कोरोना से बचाव व सुरक्षा के लिए पूरी तैयारी के साथ मंडी खोला, लेकिन धान खरीदने के लिए एक भी व्यापारी व आढ़तिया नहीं पहुंचे। यहां काम करने वाले हमाल व रेजा भी नहीं आए। क्योंकि मंडी खुलने के एक दिन पहले 23 मई को मंडी में आयोजित बैठक पर पिछले 96 घंटे की कोरोना जांच रिपोर्ट, कोरोना टीका प्रमाण पत्र, सुबह नौ से शाम पांच बजे तक मंडी खोलने समेत कुछ मांगों को लेकर जिला प्रशासन से व्यापारियों और आढ़तियों ने नियम में शिथिल करने की मांग की थी, लेकिन उनकी मांगों पर कोई विचार नहीं होने से वे मंडी धान खरीदने व काम करने नहीं पहुंचे। ऐसे में खरीदी बंद रही। जबकि सुबह से क्षेत्र के तीन किसान धान लेकर सुबह मंडी पहुंचे थे, लेकिन मंडी में खरीदी बिक्री व कामकाज होता नहीं देख, वे भी धान को शेड के नीचे रखकर बाद में बेचने की बात कहते हुए चले गए। इस संबंध में प्रभारी मंडी सचिव संजीव वाहिले ने बताया कि शासन के आदेशानुसार सैनिटाइजर व अन्य सुरक्षा व्यवस्था के साथ धान खरीदी के लिए मंडी खोली गई थी, लेकिन धान खरीदने के लिए व्यापारी ही नहीं आए। व्यापारियों,आढ़तियों, हमाल व रेजाओं की मांग को शासन को भेज दिया गया है। नया आदेश आते ही जानकारी दी जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार / रोशन