धमतरी: झमाझम बारिश के साथ गिरे ओले, बेमौसम बारिश से फसलों को भारी नुकसान

धमतरी: झमाझम बारिश के साथ गिरे ओले, बेमौसम बारिश से फसलों को भारी नुकसान
dhamtari-hail-fell-with-heavy-rains-heavy-damage-to-crops-due-to-unseasonal-rains

धमतरी, 7 मई ( हि. स.)। 36 डिग्री तापमान के बीच शुक्रवार दोपहर को मौसम में अचानक परिवर्तन हुआ। धमतरी में घंटों बादल वाला मौसम बना रहा। आसमान में तेज गर्जना होने के साथ बूंदाबांदी हुई। वहीं नगरी ब्लाक के गट्टासिल्ली क्षेत्र में डेढ़ घंटे तक झमाझम बारिश हुई। गर्जना के साथ जमकर ओले गिरे। बारिश व आंधी तूफान से किसानों के तैयार रबी धान फसल को भारी नुकसान होने की आशंका है। अंचल में सप्ताह भर से खराब मौसम का दौर जारी है। सात मई को सुबह व दोपहर में तेज धूप व गर्मी के साथ तापमान का पारा 36 डिग्री रहा। लोग धूप, गर्मी और उमस से व्याकुल होते रहे। इस बीच दोपहर ढाई बजे मौसम में परिवर्तन आया। आसमान में बादल वाले मौसम के साथ तेज गर्जना का सिलसिला शुरू हो गया। देर शाम तक गर्जना के साथ बादल वाला मौसम बना रहा और बूंदाबांदी होती रही। जबकि नगरी ब्लाक के गट्टासिल्ली क्षेत्र में मौसम में बदलाव होने के साथ दोपहर तीन बजे से शाम साढ़े चार बजे तक जमकर बारिश हुई। वहीं तेज गर्जना के साथ जमकर ओले गिरे। करीब डेढ़ घंटे तक हुई इस बारिश से जनजीवन प्रभावित हो गया। अचानक हुई इस बारिश में कई लोग फंसे रहे। आंधी तूफान के साथ हुई इस बारिश से कई पेड़ टूट गए। गांव के निचली बस्ती में रहने वाले घरों में पानी भर गया, इससे लोगों की परेशानी बढ़ गई। वहीं सड़क मार्ग पर कई पेड़ गिरने से मार्ग प्रभावित रहा। गिरे पेड़ को हटाने के बाद राहगीरों ने राहत की सांस ली और वाहनों की आवाजाही भी शुरू हुई। किसानों को भारी नुकसान क्षेत्र के ग्राम गट्टासिल्ली, करैहा,सांकरा, सारंगपुरी आमदी, सराईटोला समेत कई गांवों में भारी बारिश ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। ग्रामीण दिनेश कुमार नेताम, सोनू मरकाम ने बताया की रबी धान की कटाई-मिंजाई तेजी से चल चल रही है। बेमौसम भारी बारिश, ओले और आंधी तूफान से तैयार धान फसल बारिश में भीगने के साथ जमीन पर गिर गई है। वहीं क्षेत्र में आम फसल काफी प्रभावित हुआ है। इसी तरह धमतरी, कुरुद व मगरलोड क्षेत्र में भी खराब मौसम ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। क्योंकि खेतों में रबी धान फसल पककर तैयार है। कटाई मिंजाई जारी है। यदि बारिश होती है, तो किसानों को भारी नुकसान होगा। इसे लेकर किसानों की चिंता बढ़ गई है। हिन्दुस्थान समाचार / रोशन