धमतरी : मादा तेंदुआ पिंजड़े में कैद, ग्रामीणों ने ली राहत की सांस

धमतरी : मादा तेंदुआ पिंजड़े में कैद, ग्रामीणों ने ली राहत की सांस
dhamtari-female-leopard-imprisoned-villagers-breathe-a-sigh-of-relief

धमतरी, 22 मई ( हि. स.)। दो दिनों की कड़ी मेहनत के बाद आखिरकार वन विभाग ने मादा तेंदुआ को पिंजड़े में कैद कर लिया। तेंदुआ के पकड़े जाने की खबर के बाद क्षेत्र के ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है। जिले के नगरी ब्लाक मुख्यालय से लगे ग्राम मुकुंदपुर सड़क पारा के पास स्थित जंगल में पिछले कुछ दिनों से एक मादा तेंदुआ की दहशत थी। इससे लोगों में दहशत थी। वहीं इस तेंदुए ने गांव के आठ साल के बालक पर 15 मई को हमला कर मार दिया था। घटना से दहशतजदा ग्रामीणों ने वन विभाग से तेंदुए को पकड़ने की मांग की थी। डीएफओ संतोविशा समाजदार ने बताया कि इस तेंदुए को पकड़ने दो दिनों से वन विभाग की टीम तीन पिंजड़े को जंगल में लगाया था। पहले दिन तेंदुआ सपड़ में नहीं आया। दूसरे दिन 22 मई को सुबह तेंदुआ पकड़ा गया। तेंदुए के पकड़े जाने के बाद मौके पर वन विभाग के अधिकारी-कर्मचारी पहुंचे। इधर तेंदुआ पकड़ाने की खबर सुन मुकुंदपुर समेत आसपास के ग्रामीण इसे देखने पहुंचे। तेंदुए के पकड़े जाने के बाद क्षेत्र के ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है। डीएफओ संतोविशा समाजदर ने बताया कि पिंजरे में कैद तेंदुए को सीतानदी अभ्यारण क्षेत्र के जंगल में छोड़ा गया। तेंदुआ सुरक्षित जंगल की ओर भाग निकला। जानकारी के अनुसार मृत बच्चे के शरीर पर मादा तेंदुआ के पंजे का चोट का निशान था और जो पकड़ा गया तेंदुआ है, वह भी मादा तेंदुआ ही है। इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि इसी तेंदुए ने बच्चे को मारा था। तेंदुआ पानी पीने के लिए गांव की ओर आ रहा था, ऐसे में ग्रामीण, अन्य जानवर और तेंदुआ को खुद खतरा था इसलिए वन विभाग की टीम ने तेंदुए को पकड़कर सीतानदी अभ्यारण क्षेत्र में छोड़ दिया है। वन विभाग के अधिकारी कर्मचारियों की माने, तो इस जंगल क्षेत्र में कुछ और तेंदुए हैं। फिलहाल ये तेंदुए गांव की ओर नहीं आ रहे हैं, फिर भी सुरक्षा के मद्देनजर मुकुंदपुर व आसपास क्षेत्र में 24 घंटे ग्रामीणों की सुरक्षा के लिए वन विभाग के अधिकारी कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई जाएगी। ताकि ग्रामीण सुरक्षित रहे। जिस तरह हाथियों से ग्रामीणों को सुरक्षित रखने ड्यूटी लगाई गई थी, ठीक उसी तरह इन गांवों में भी अधिकारी-कर्मचारी ड्यूटी करेंगे। इस मौके पर आईएफएस आलोक बाजपाई, रेंजर जीएस परमार, वनरक्षक गोपाल वर्मा सहित वन विभाग की टीम मौजूद थे। हिन्दुस्थान समाचार / रोशन