धमतरी : ब्लैक फंगस से धमतरी सुरक्षित, एक भी केस नहीं 23590 कोरोना पीड़ितों में से किसी में कोई लक्षण नहीं

धमतरी : ब्लैक फंगस से धमतरी सुरक्षित, एक भी केस नहीं 23590 कोरोना पीड़ितों में से किसी में कोई लक्षण नहीं
dhamtari-dhamtari-safe-from-black-fungus-not-a-single-case-23590-no-symptoms-in-any-of-the-corona-victims

धमतरी, 13 मई ( हि. स.)। ब्लैक फंगस से धमतरी जिला पूरी तरह से सुरक्षित है। 23590 कोरोना पाजिटिव में से अब तक एक भी संक्रमितों में इसका कोई लक्षण सामने नहीं आया है। फिर भी स्वास्थ्य विभाग ब्लैक फंगस से लड़ने उपचार के लिए पूरी तैयारी कर ली है। कोरोना संक्रमण के बाद अब लोगों में ब्लैक फंगस को लेकर काफी चर्चा बनी हुई है। कोरोना संक्रमितों में यह संक्रमण होने की खबर के बाद कोरोना पाजिटिव आए कई लोग इस फंगस को लेकर हालांकि चिंतित है, लेकिन वे सुरक्षित है। धमतरी जिले में अब तक 23590 लोग कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। इसमें से कोई भी ऐसा गंभीर मरीज नहीं था, जिसे लंबे समय तक आक्सीजन के भरोसे रहना पड़ा। साथ ही उनके प्रतिरोधक क्षमता काफी कम रही हो। यही वजह है कि 16942 लोग कोरोना से जंग जीतकर लौट चुके हैं और पूरी तरह से स्वस्थ है। इनमें से अभी तक कोई भी मरीज दोबारा अस्पताल व डाक्टरों के पास अन्य शिकायत लेकर नहीं पहुंचे हैं। इन मरीजों के शरीर में अन्य किसी तरह के कोई लक्षण नहीं है। हालांकि धमतरी जिले में अभी भी 6180 लोग कोरोना से जंग लड़ रहे हैं। ये सभी मरीज भी सामान्य तौर पर है। किसी की स्थिति काफी गंभीर नहीं है, जो लंबे समय से आक्सीजन के भरोसे अस्पताल में नहीं है। ऐसे में इन मरीजों पर ब्लैक फंगस होने का खतरा नहीं है। ब्लैक फंगस से लड़ने तैयारी सीएमएचओ डा डीके तुर्रे ने बताया कि ब्लैक फंगस से धमतरी जिला पूरी तरह अभी सुरक्षित है। कहीं से कोई शिकायत नहीं है। जिले के शासकीय व निजी अस्पतालों में एक भी केस जिले में नहीं है। ब्लैक फंगस गंभीर कोरोना मरीजों के शरीर में होने की आशंका रहती है, जो लंबे समय से आक्सीजन और दवाई के भरोसे बिस्तर पर रहते हैं। जिनकी प्रतिरोधात्मक क्षमता काफी कम होती है, ऐसे मरीजों को ब्लैक फंगस होने की आशंका ज्यादा होती है। ब्लैक फंगस की उपचार के लिए जिला स्वास्थ्य विभाग ने अपनी ओर से पूरी तैयारी कर ली है। हिन्दुस्थान समाचार / रोशन

अन्य खबरें

No stories found.