dhamtari-250-families-celebrated-easter-festival-online
dhamtari-250-families-celebrated-easter-festival-online
news

धमतरी : 250 परिवारों ने आनलाइन मनाया ईस्टर का पर्व

news

धमतरी 4 अप्रैल (हि.स.) । प्रभु यीशु मसीह के पुनरुत्थान यानी मृत्यु पर विजय पाने की खुशी में रविवार चार अप्रैल को ईस्टर पर्व मनाया गया। कोरोना वायरस संक्रमण के कारण चर्च में सामूहिक आयोजन नहीं हो रहे हैं। इसके चलते आयोजन आनलाइन किए जा रहे हैं। धमतरी में मेनोनाईट चर्च से जुड़े 250 मसीही परिवारों ने आनलाइन ईस्टर का पर्व मनाया। मेनोनाईट चर्च में कार्यक्रम का संचालन सेविका थेल्मा मेहतो ने किया। उत्तरवादी पाठ का वाचन सेविका शैलजा सोनवानी ने किया। प्रार्थना सेवक अनिल राघवा ने किया। संदेश का वाचन स्नेह चंद्र ख्रिष्टि ने किया। प्रभु यीशु मसीह का संदेश वाचन पादरी एस फिलिस द्वारा किया गया।इस खास अवसर पर समाज के बच्चों ने बाइबल पाठ और प्रार्थना गीत को रिकार्ड कर मेनोनाईट चर्च के आधिकारिक नंबर पर प्रेषित किया। इसी तरह समाज के युवाओं ने भी अपनी प्रस्तुति को रिकार्ड कर चर्च में भेजा। उल्लेखनीय है कि ईस्टर को गुड फ्राइडे के तीसरे दिन बाद मनाया जाता है। इस दिन प्रभु ईसा मसीह पुन: जीवित हो उठे थे। मान्यता है कि प्रभु ईसा मसीह अपने शिष्यों के लिए वापिस लौटे थे। पुन: लौटने के बाद प्रभु ईसा मसीह ने 40 दिनों तक अपने भक्तों के बीच में रहकर लोगों को करुणा, दया और क्षमा का उपदेश दिया। प्रभु ईसा मसीह ने उन लोगों को भी माफ कर दिया जिन लोगों ने उन्हें सूली पर चढ़ाया था। ईस्टर के दिन उन्होंने क्षमा का उपदेश देकर दुनिया को इसके महत्व के बारे में बताया। हिन्दुस्थान समाचार / रोशन