वाराणसी : पंजाब नेशनल बैंक के प्रबंधक हत्याकांड में शामिल सरगना सहित पांच गिरफ्तार

वाराणसी : पंजाब नेशनल बैंक के प्रबंधक हत्याकांड में शामिल सरगना सहित पांच गिरफ्तार
varanasi-five-arrested-including-the-kingpin-involved-in-the-murder-of-the-manager-of-punjab-national-bank

- पैसे को दोगुना करने के लालच में अपराधियों के झांसे में आ गये थे बैंक मैनेजर वाराणसी, 16 जून (हि.स.)। फूलपुर पुलिस ने पंजाब नेशनल बैंक के करखियांव शाखा प्रबंधक फूलचंद राम हत्याकांड में शामिल शूटरों सहित घटना के मास्टर माइंड सरगना को भी दबोच लिया है। इस मामले में दो शूटर अभी फरार चल रहे हैं। बुधवार को गिरफ्तार बदमाशों को मीडिया के सामने पेश किया गया। ग्रामीण पुलिस अधीक्षक अमित वर्मा ने बताया कि बीते 09 जून को वारदात के बाद पुलिस टीम ने 13 जून को 06 बदमाशों को गिरफ्तार कर घटना का पर्दाफाश कर दिया था। गिरफ्तार बदमाश लहरतारा निवासी शिवा श्रीवास्तव पुत्र सुधीर श्रीवास्तव, बलरामपुर बड़ागांव निवासी मुकेश पाल, रमईपुर पिंडरा निवासी अतुल सिंह, अतुल विश्वकर्मा, फूलपुर निवासी संजय पटेल ने पूरे घटनाक्रम की जानकारी दे दी थी। सभी को जेल भेजने के बाद सरगना और अन्य शूटरों की तलाश में पुलिस टीम लगातार प्रयास कर रही थी। इसी दौरान सटीक सूचना पर फूलपुर, चौबेपुर एवं क्राइम ब्रांच की संयुक्त टीम ने हत्याकांड में शामिल मऊ जनपद के कटघरा निवासी सरगना आलोक राय, शूटर मिश्रौली चिरैयाकोट मऊ निवासी अरूण मिश्र, मरदह गाजीपुर निवासी राहुल तिवारी, बरहट शादियाबाद गाजीपुर निवासी नितेश, मरदह भीखमपुर निवासी विकास गौड़ को गिरफ्तार कर लिया। सरगना आलोक राय ने पूंछतांछ में पुलिस को बताया कि बैंक प्रबंधक से 50 लाख रूपये की ठगी करने का इरादा था। योजना सफल न होने पर गोली मारकर लूटने का प्लान बनाया गया। घटना वाले दिन आलोक ने राहुल तिवारी और उसके मित्र सतपाल पासवान को साथ लिया। इसके बाद नितेश सिंह को योजना के सम्बंध में बताकर उससे किराये का लक्जरी वाहन लिया गया। फिर हम लोगों के मित्र शूटर राजू पंडित,धीरेन्द्र सिंह, विकास गौड़ को इस योजना में शामिल किया गया। पूंछतांछ में विकास गौड़ ने बताया कि पिंडरा के पटेल ढाबा के पास बैंक मैनेजर से मुकेश पाल मिला था। वहां सुनील हम लोगों की गाड़ी में बैठ गया। योजना अनुसार संदहा चौराहे की तरफ ले जाकर लूटने की योजना थी। लेकिन बैंक मैनेजर ने कैथोली से वाराणसी की तरफ मुड़ने को कहा। इस पर धीरेन्द्र के इशारे पर राजू पंडित ने मैनेजर को गोली मार दी और पैसा लेकर हमारे गाड़ी में बैठ गया। लूटी गई रकम में से हमें एक लाख रूपये ही मिला था। शेष रकम राजू पंडित और धीरेन्द्र के पास है। ग्रामीण पुलिस अधीक्षक ने बताया कि शूटर राजू और धीरेन्द्र को शीघ्र गिरफ्तार कर लूटी गई रकम बरामद कर ली जायेगी। छानबीन में सामने आया कि हत्याकांड में शामिल दो गिरोह के बदमाशों ने बैंक प्रबंधक को सीएसआर फंड ट्रांजेक्शन के नाम पर पैसे को दोगुना करने का लालच भी दिया था। हिन्दुस्थान समाचार/श्रीधर/विद्या कान्त

अन्य खबरें

No stories found.