विचाराधीन कैदी ने यूपी की जेल में की खुदकुशी

 विचाराधीन कैदी ने यूपी की जेल में की खुदकुशी
undertrial-prisoner-commits-suicide-in-up-jail

लखनऊ, 27 अक्टूबर (आईएएनएस)। गोसाईंगंज की जिला जेल के अंदर एक विचाराधीन कैदी का शव लटका हुआ पाया गया है। एक सुसाइड नोट में उसने दावा किया कि वह निर्दोष है और पुलिस ने उसे जान-बूझकर फंसाया है। पुलिस का दावा है कि उसने आत्महत्या की है और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। उसकी रिपोर्ट का इंतजार है। मिली जानकारी के अनुसार मृतक की पहचान सीतापुर जिले के बिसवां मोहल्ले के 25 वर्षीय रूपेश कुमार के रूप में हुई है। उसे गोसाईंगंज पुलिस ने इसी साल 12 अगस्त को डकैती के एक मामले में जेल भेज दिया था। ज्ञापन में कहा गया है कि रूपेश को जेल में सर्कल नंबर एक के बैरक नंबर 23 में रखा गया था और मंगलवार को वह बैरक के कमरे में गले में गमछा बंधा हुआ पाया गया था। ज्ञापन में कहा गया है कि रूपेश को जेल के एक डॉक्टर द्वारा जांच करने पर मृत पाया गया था। जेल अधिकारियों ने कहा कि कैदी के पास से एक सुसाइड नोट मिला है, जिसके अनुसार वह निर्दोष है और पुलिस ने उसे मामले में फंसाया है। मामले की न्यायिक जांच की मांग भी की गई है। --आईएएनएस एचके/आरजेएस

अन्य खबरें

No stories found.