two-year-old-absconding-accused-of-assault-on-police-got-disguised-as-monk
two-year-old-absconding-accused-of-assault-on-police-got-disguised-as-monk
क्राइम

पुलिस पर हमले का दो साल से फरार आरोपित साधु के वेश में मिला

news

गुना, 03 अप्रैल (हि.स.)। दो साल पहले राजस्थान की पुलिस पर हमला करके फरार हुआ आरोपित साधु के वेश में मिला। एसपी राजीव कुमार मिश्रा ने शनिवार को बताया कि आरोपित अपने ही गांव मुहासा खुर्द के पास जंगली इलाके में मिला। पुलिस से बचने के लिए वह साधु बनकर रहने लगा था। उन्होंने बताया कि आरोपित रामलखन उर्फ लखन मीना (40) पुत्र फूलसिंह मीना निवासी ग्राम मुंहासा खुर्द की दो साल से तलाश की जा रही थी। 24 फरवरी 2019 को मुंहासा खुर्द में राजस्थान की पुलिस ने छापा मारा था। इसी दौरान उन पर 25-30 लोगों ने फर्सी, लाठियों सहित अन्य हथियारों से हमला कर दिया था। इसमें कई जवानों को गंभीर चोट आईं। आरोपितों ने पुलिस से एक पिस्टल, मैग्जीन व 5 कारतूस भी छीन लिए थे। इस मामले में दो आरोपितों संतोष मीणा व कन्हैया मीणा को गिरफ्तार किया जा चुका है, जबकि रामेश्वर मीणा अभी भी फरार है। ज्यादती का आरोपित लुकवासा से पकड़ा गया बजरंगगढ़ पुलिस ने दो साल से फरार ज्यादती के एक आरोपित को हिरासत में लिया है। उस पर 10 हजार का इनाम था। बजरंगगढ़ थाने में उस पर 16 साल की किशोरी से ज्यादती करने का मामला दर्ज था। पुलिस ने बताया कि आरोपित अरविन्द (25) पुत्र जगराम रघुवंशी मूलत: शिवपुरी जिले के कोलारस क्षेत्र के गांव आनंदपुर का निवासी है। वह बजरंगगढ़ निवासी पीडि़ता को बहला फुसलाकर अपने साथ ले गया था। हालांकि पुलिस ने पीडि़ता को अक्टूबर 2019 में ही तलाश लिया था। उसके बयान के आधार पर आरोपित की तलाश की जा रही थी। उसकी लोकेशन लुकवासा में मिलने की सूचना के बाद पुलिस ने वहां छापा मारकर उसे पकड़ लिया। हिन्दुस्थान समाचार / अभिषेक