दूसरों की संपत्ति हड़पने के आरोप में दो कारोबारी ईडी की गिरफ्त में

 दूसरों की संपत्ति हड़पने के आरोप में दो कारोबारी ईडी की गिरफ्त में
two-businessmen-in-the-custody-of-ed-for-grabbing-property-of-others

नयी दिल्ली, 5 अप्रैल (आईएएनएस)। प्रवत्र्तन निदेशालय (ईडी) ने जाली दस्तावेजों के आधार पर दूसरों की संपत्ति हड़पने के मामले में मनी लॉड्रिंग के आरोपी महाराष्ट्र के दो कारोबारियों को मंगलवार को गिरफ्तार किया। एक ईडी अधिकारी ने बताया कि दोनों कारोबारियों सतीश उके और प्रदीप उके को मुम्बई में पीएमएल कोर्ट के समक्ष पेश किया गया, जहां कोर्ट ने उन्हें बुधवार तक ईडी की हिरासत में भेजे जाने का आदेश दिया। ईडी अधिकारी ने बताया कि इन आरोपियों के खिलाफ नागपुर के अज्नी पुलिस थाने में दर्ज दो प्राथमिकी के आधार पर मनी लॉड्रिंग का मामला दर्ज किया गया। पहला मामला मौजा बोखारा में पांच एकड़ जमीन के मालिक मोहम्मद समद के भतीजे मोहम्मद जफर ने दर्ज कराया। इन दोनों ने उस जमीन पर कब्जा कर लिया था। दूसरी प्राथमिकी इनके खिलाफ एशवाड़ी सहकारी गृह निर्माण संस्था की अध्यक्ष शोभारानी राजेंद्र नालोडे ने दर्ज करायी थी, जिसके मुताबिक आरोपियों ने मौजा बाबुलखेड़ा में सोयाइटी की डेढ़ एकड़ जमीन पर कब्जा कर लिया था। ईडी ने पीएमएलए कानून के तहत मामले की जांच शुरू की तो पता चला कि इन्होंने जाली पावर ऑफ एटॉर्नी बनाकर इन दोनों जमीनों पर कब्जा किया था। इन जमीनों पर अब भी आरोपियों का ही कब्जा है। आरोपियों के परिसरों पर 31 मार्च को ईडी ने छापा मारा और जाली दस्तावेज तथा डिजिटल सबूत इकट्ठा किये। मामले की जांच अभी जारी है। --आईएएनएस एकेएस/एएनएम

अन्य खबरें

No stories found.