यूपी के महराजगंज में बालक की पिटाई मामले में तीन गिरफ्तार, आयोग ने मांगा जवाब

 यूपी के महराजगंज में बालक की पिटाई मामले में तीन गिरफ्तार,  आयोग ने मांगा जवाब
three-arrested-in-up39s-maharajganj-for-beating-a-child-the-commission-sought-answers

महाराजगंज, 17 जुलाई (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के महराजगंज स्थिति नौतनवा में पांच किलो गेहूं चोरी के आरोप में बालक की पेड़ से बांधकर पिटाई के मामले में 3 लोगों की गिरफ्तारी हुई है। इस मामले में बाल संरक्षण आयोग ने संज्ञान लेते हुए कार्यवाही की बात कही है। महराजगंज के नौतनवा थाना क्षेत्र में स्थित मंडी समिति परिसर में रखें गेहूं के भंडार में जमीन पर बिखरे लगभग 5 किलो गेहूं लेकर अपने घर जा रहे लगभग 9 वर्षीय एक गरीब बच्चे को चोरी का आरोप लगाते हुए मंडी समिति के कर्मचारियों और मजदूरों ने उस बच्चे को तालिबानी सजा देते हुए पेड़ से बांधकर जमकर पिटाई की। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वही वायरल वीडियो का संज्ञान लेते हुए पुलिस खुद मौके पर जांच के लिए पहुंच गई और घटना में शामिल लोगों से पूछताछ कर कई लोगों को हिरासत में लिया है। पुलिस वायरल वीडियो का संज्ञान लेते हुए मंडी समिति पहुंची, बच्चे और उसके परिजनों को बुलाकर पूरी घटना की जानकारी ली। जांच के दौरान बच्चे ने अपने साथ मारपीट में शामिल लोगों की पहचान की। जिसके बाद पुलिस मारपीट में शामिल कुछ लोगों को अपने साथ थाने ले गई, जहां उनसे पूछताछ की गई। वहीं, बच्चे की पिटाई से आहत परिजन और स्थानीय लोग इस गंभीर घटना में शामिल दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की थी। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक निवेश कटियार ने बताया कि नौतनवा मंडी समिति में एक 9 साल के बच्चे पर चोरी का आरोप लगाकर कुछ लोग पिटाई कर रहे थे। इस मामले को पुलिस ने संज्ञान में लेते हुए अज्ञात पर मुकदमा दर्ज करते हुये तीन लोगों को गिरफ्तार भी किया है। मामले की जांच हो रही है। ज्ञात हो कि गुरुवार सुबह चोरी के आरोप में एक बच्चे को मंडी कर्मियों ने पकड़ लिया और पुलिस को सूचना दिए बगैर स्वयं जज बन बैठे। बच्चे को पेड़ से बांध दिया गया। जिसका वीडियो किसी ने बनाकर वायरल कर दिया। जिसमें बच्चे को गाली गलौज करते देखा गया और नजदीक में एक वर्दीधारी लाठी लेकर खड़ा है। सवाल यह उठ रहा है कि जब मंडी सचिव को चोरी का शक था। तो उसने पुलिस के पास शिकायत क्यों नहीं की। बच्चे को बांधने का फरमान किसने जारी किया। घटना के दूसरे दिन शुक्रवार को सीओ कोमल प्रसाद मिश्र व इंस्पेक्टर मंडी समिति जांच पड़ताल में पहुंचे। जहां बच्चे के पिता ने प्रताड़ित करने का आरोप लगाया और बच्चे के निशानदेही पर तीन व्यक्ति को उठाकर थाने लाया गया। पीड़ित बालक के पिता ने पुलिस को तहरीर देकर बताया कि गुरुवार की सुबह 11 बजे उन्हे सूचना मिली कि उनके 11 साल के बेटे को पेड़ में बांधकर मारा-पीटा जा रहा है। भागकर जब वह मौके पर पहुंचे तो लोग उसे बांधकर मारपीट रहे थे। उत्तर प्रदेश राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की सदस्य सुचिता चतुर्वेदी ने इस गंभीर घटना को संज्ञान लेते हुए घटना में शामिल दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की बात कही है। --आईएएनएस विकेटी/एएनएम

अन्य खबरें

No stories found.