teenager-brutally-beaten-to-death-in-his-home-by-rod
teenager-brutally-beaten-to-death-in-his-home-by-rod
क्राइम

किशोरी की उसी के घर में रॉड से पीट-पीटकर निर्मम हत्या

news

नई दिल्ली, 20 फरवरी (हि.स.)। रोहिणी जिले के बेगमपुर इलाके में एक किशोरी की उसी के घर में रॉड से पीट पीटकर निर्मम हत्या कर दी। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि वारदात को अंजाम देने का शक घर में आने वाले एक युवक पर है। पुलिस उसके परिवार वालों से पूछताछ कर उसके ठिकानों के बारे में पूछताछ कर छापेमारी कर रही है। शुरुआती जांच में एक तरफा प्यार का मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक मृतक किशोरी परिवार के साथ बी ब्लॉक भारत विहार,बेगमपुर इलाके में रहती थी। परिवार में उसके माता पिता और छोटा भाई है। किशोरी सरकारी स्कूल से 11 कक्षा की पढ़ाई कर रही थी। पुलिस को शुक्रवार शाम को पुलिस को को किशोरी की हत्या होने की जानकारी मिली थी। पुलिस मौके पर पहुंची। मैन गेट का ताला टूटा हुआ था। जबकि कमरे में काफी खून पड़ा हुआ था। पता चला कि किशोरी को संजय गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस मौके पर पहुंची। डॉक्टरों ने किशोरी को मृत बताया। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू की। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि किशोरी के सिर पर रॉड जैसी चीज से हमला किया था। जिससे उसकी मौत हो गई। किशोरी के चचेरे भाई कौशल ने पुलिस को बताया कि किशोरी के माता पिता फैक्टरी में नौकरी करते हैं। हत्या परिवार के ही एक जानकार लाईक खान(25) ने की है। जो कई बार किशोरी को शादी के लिए प्रपोज कर चुका था। लेकिन किशोरी ने उसको हर बार शादी करने से मना किया था। कौशल ने बताया कि लाईन खान नरेला में किसी फैक्टरी में नौकरी करता है। चार पांच साल से किशोरी का परिवार बवाना इलाके में रहता था, लेकिन तीन चार महीने में परिवार बेगमपुर में रहने लगा था। आरोपी की परिवार से करीब पांच साल से जानपहचान है। वह अक्सर घर पर भी रूक जाया करता था। यहीं पर ही खाना खाया करता था। शुक्रवार को भी लाईक खान ने किशोरी को प्रपोज किया था। इस बार भी किशोरी ने मना कर दिया था। उस वक्त किशोरी के माता पिता डयूटी पर गए हुए थे। लाईक खान को घर पर ही डिनर करना था। किशोरी ने उसे और छोटे भाई को बाजार से सब्जी लेने के लिए भेज दिया और बाद में बात करने के लिए कहा था। जब वह करीब आधे घंटे बाद वापिस सब्जी लेकर आया। घर का मैन दरवाजे पर ताला लगा हुआ था। उसको लगा कि किशोरी कहीं बाहर गई होगी। उसका फोन पर भी घंटी बज रही थी। काफी देर होने पर जब किशोरी के बारे में कुछ पता नहीं चला। उसने ताला तोड़ दिया। अंदर जाकर देखा,कमरे में किशोरी खून से लथपथ हालत में फर्श पर पड़ी थी। उसके चिल्लाने की आवाज सुनकर पड़ोसी मौके पर पहुंचे। किशोरी को संजय गांधी अस्पताल खून से लथपथ हालत में ले गए। वहीं पर माता पिता और पुलिस को वारदात की जानकारी दी। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी