रिश्ता तार- तार: पिता ने अपनी ही बेटी को बनाया दरिंदगी का शिकार

 रिश्ता तार- तार: पिता ने अपनी ही बेटी को बनाया दरिंदगी का शिकार
relationship-telegram-the-father-made-his-own-daughter-a-victim-of-cruelty

जोधपुर, 14 अप्रैल (हि.स.)। लूणी तहसील क्षेत्र में एक पिता द्वारा अपनी ही मासूम बेटी से दुराचार की बात सामने से रिश्ते तार तार होते नजर आए है। पिता की हैवानियत का शिकार बनी इस बेटी से कई बार ज्यादती की गई। आखिरकार पिता की करतूस सार्वजनिक हुई और बात पुलिस तक पहुंची। अब पिता पुलिस की गिरफ्त में है और दो दिन की पुलिस अभिरक्षा में है। उससे गहन पूछताछ चल रही है। समाज व परिवार के दबाव में बेटी बोल न सकी, आखिर दादा ने उसे गांव के पास ही पढ़ाई के लिए (हॉस्टलनुमा कमरे पर ) भेज दिया। लेकिन...यहां पर भी दरिंदगी की काली छाया उसके पीछे आ गई। किशोरी बोली...दादा ने पिता से बचाने के लिए हॉस्टल में डाला था, लेकिन वहां पर भी बड़े पिता ने एक युवक को 50 हजार रुपए दे, उसके पास भेज दिया। जहां 28 दिन तक बंधक बना कर रखा, बाहर नहीं निकलने दिया। हर रोज एक गोली नशीली दवा की देता और दुष्कर्म करता। इस दौरान दादा दो तीन बार आए, आटा व सब्जियां दे वापस चलें जाते। दादा को क्या बताती, लेकिन जब घर पहुंची तो दादी को जरूर बताया, लेकिन कुछ नहीं हुआ। चार दिन पहले पिता ने उस मासूम बेटी पर गुस्सा उतारा। उसका पूरा नाक अपने मुंह व दांत से काट दिया, नाक की सिर्फ हड्टी बची...वो लहुलुहान हो गई। आखिर में उसे अस्पताल भर्ती करवाना पड़ा। जहां उसके नाक की सर्जरी की गई। लेकिन तब भी उसने मारपीट की बात होना ही पुलिस को बताया। जब ये मामला एक एनजीओ को पता चला तो वो नाबालिग से मिलने पहुंची। जहां उसने पिता सहित एक अन्य पर ज्यादती का आरोप लगाया। तब लूणी थानाधिकारी परमेश्वरी हरकत में आईं और किशोरी के पिता को गिरफ्तार कर लिया। जिसे बुधवार को कोर्ट में पेश कर दो दिनों की रिमांड पर लिया। पत्नी पर चरित्रहीन होने का संदेह: बताया जाता है कि आरोपी को अपनी पत्नी के चरित्र पर संदेह था। पत्नी पर इसका आरोप भी लगाया। तब पत्नी उसे छोडक़र चली गई। जोकि वापस नहीं लौटी। इधर मासूम की देखभाल उसके दादा-दादी करने लगे। लेकिन पिता ने कभी उसे नहीं स्वीकारा। क्योंकि मां पर चरित्रहीन होने का आरोप जो लगा था। जबकि मासूम को पता नहीं कि सच्चाई क्या थी। हिन्दुस्थान समाचार/सतीश/संदीप