रांची: बच्चे के शोषण का मामला, आश्रय गृह को जिला प्रशासन ने सील कराया

 रांची: बच्चे के शोषण का मामला, आश्रय गृह को जिला प्रशासन ने सील कराया
ranchi-child-abuse-case-shelter-home-sealed-by-district-administration

रांची, 26 अक्टूबर (आईएएनएस)। रांची के एक बाल आश्रय गृह में सुरक्षा गार्ड द्वारा एक बच्चे के यौन शोषण का मामला सामने आने के बाद जिला प्रशासन ने बाल गृह को सील कर दिया है। वहां रह रहे सभी बच्चों को दूसरी जगह स्थानांतरित कर दिया गया है। रांची के उपायुक्त छवि रंजन ने कहा है कि इस मामले में प्रशासन की ओर से सख्त से सख्त कदम उठाया जायेगा। बाल आश्रय गृह का संचालन करने वाली कमेटी को भी उन्होंने तत्काल प्रभाव से भंग करा दिया है। बताया गया कि बीते नौ अक्टूबर बालाश्रय की अधीक्षक ने जिला बाल कल्याण समिति को पत्र लिखकर मामले की पूरी जानकारी दी थी। इसमें बताया गया था कि यहां कार्यरत सुरक्षा गार्ड शंभु प्रसाद लोहरा पर 11 साल के एक बच्चे ने अप्राकृतिक यौनाचार का आरोप लगाया है। यह सिलसिला एक माह से चला आ रहा था। शिकायत मिलने के बाद आरोपी के खिलाफ रांची के पंडरा ओपी में एफआईआर दर्ज करायी गयी थी। पुलिस ने आरोपित गार्ड को गिरफ्तार कर लिया था। आज उपायुक्त छवि रंजन ने इस मामले को संज्ञान में लेते हुए बालाश्रय से सभी बच्चों को दूसरे जगह शिफ्ट करने का आदेश दिया। इसके बाद सभी बच्चों को निवारणपुर स्थित आदिम जाति सेवा मंडल में पहुंचा दिया गया। बाल आश्रय गृह को सील किये जाने की कार्रवाई के दौरान जिला बाल कल्याण समिति के पदाधिकारी और सदस्य भी मौजूद रहे। जिला बाल कल्याण समिति के सदस्य वैद्यनाथ कुमार ने इस पूरे मामले को शर्मनाक बताते हुए बाल आश्रय गृह के संचालक के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि अगर प्रबंधन के लोग अलर्ट रहते तो इस तरह की शर्मनाक स्थिति नहीं पैदा होती। बता दें कि इस बाल आश्रय गृह में ट्रैफिकर्स के कब्जे से मुक्त कराये गये बच्चों को रखा गया था। --आईएएनएस एसएनसी/एएनएम

अन्य खबरें

No stories found.