मुंबई में बारिश ने कहर बरपाया, मरने वालों की संख्या बढ़कर 22 हुई (लीड-2)

 मुंबई में बारिश ने कहर बरपाया, मरने वालों की संख्या बढ़कर 22 हुई (लीड-2)
rain-wreaks-havoc-in-mumbai-death-toll-rises-to-22-lead-2

मुंबई, 18 जुलाई (आईएएनएस)। बीएमसी आपदा नियंत्रण ने रविवार को यहां कहा कि मुंबई और मुंबई महानगर क्षेत्र में आधी रात से हो रही बारिश के कारण 11 अलग-अलग घटनाओं में कम से कम 22 लोगों की मौत हो गई। आईएमडी मुंबई के अनुसार, जब रात में मुंबई सो रहा था, गरज, बिजली के साथ कुछ क्षेत्रों में 197 मिमी से 235 मिमी से अधिक की भारी बारिश हुई, जिसने कई क्षेत्रों को जलमग्न कर दिया और सड़क और रेल यातायात को बुरी तरह प्रभावित हुआ। बीएमसी आपदा प्रकोष्ठ और एनडीआरएफ के अनुसार, चेंबूर इलाके के वाशी नाका, न्यू भारत नगर में तड़के करीब एक बजे एक पेड़ गिरने के बाद दीवार गिरने से कम से कम 17 लोगों की मौत हो गई। एक अन्य घटना में, विक्रोली पूर्व में सूर्यनगर की बस्तियों में कुछ झोपड़ियों के ढह जाने से कम से कम 3 लोगों की मौत हो गई। रविवार को तड़के घर की दीवार गिरने से 16 वर्षीय लड़के सोहम एम थोराट की मौत हो गई, जबकि अंधेरी पश्चिम में मिठाई की दुकान में 26 वर्षीय युवक सलीम एम. पटेल की करंट लगने से मौत हो गई। इन सभी घटनाओं में घायल हुए लगभग 12 अन्य लोगों को विभिन्न अस्पतालों में ले जाया गया है और उनका इलाज चल रहा है, उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है। बीएमसी के गेज ने दक्षिण मुंबई में 177 मिमी, पूर्वी उपनगरों में 205 मिमी और पश्चिमी उपनगरों में 195 मिमी बारिश दर्ज की। कई क्षेत्रों में, लोगों ने कमर तक पानी की सूचना दी, बाढ़ का पानी संवेदनशील या निचले इलाकों में भूतल के घरों या दुकानों में प्रवेश कर गया। मध्यरात्रि के बाद शुरू हुई बारिश लगभग बिना रुके जारी रही और सिंधुदुर्ग, रत्नागिरी, रायगढ़, ठाणे और पालघर के तटीय कोंकण जिलों के अलावा शहर के अधिकांश हिस्सों में जलभराव या बाढ़ की स्थिति पैदा हो गई। बारिश ने उपनगरीय ट्रेन सेवाओं को प्रभावित किया, जिससे नल्ला सोपारा और विरार में डब्ल्यूआर लाइनों में पानी भर गया, और दादर, सायन, कुर्ला, परेल, चूनाभट्टी और तिलकनगर में सीआर ट्रैक जलमग्न हो गए। सुबह 7 बजे तक जैसे ही रेलवे ट्रैक से पानी का स्तर कम हुआ, पश्चिम रेलवे ने चर्चगेट और बोरीवली के बीच सेवाएं फिर से शुरू कर दीं गईं और सीआर ने मेनलाइन और हार्बर लाइन पर सेवाएं शुरू कर दीं। बीएमसी ने कहा कि पूरे मुंबई में कम से कम 31 इलाकों में जलभराव या बाढ़ की सूचना है, जिसमें पश्चिमी उपनगरों में नियमित हॉटस्पॉट और पूर्व-पश्चिम सबवे शामिल हैं। हालांकि, बारिश का असर यात्रियों को ज्यादा महसूस नहीं हुआ क्योंकि रविवार का दिन था, ज्यादातर लोग घर के अंदर ही रहे। भांडुप जल उपचार संयंत्र में बाढ़ के पानी के प्रवेश के साथ, बीएमसी ने कहा है कि मरम्मत पूरी होने तक शहर के कुछ हिस्सों में पानी की कमी होगी और लोगों से पानी का संयम से उपयोग करने का आग्रह किया। आईएमडी मुंबई ने दिन के दौरान और बारिश की चेतावनी दी है, जिसके लिए बीएमसी, एनडीआरएफ, पुलिस, फायर ब्रिगेड और अन्य एजेंसियां मुंबई और पूरे तटीय कोंकण क्षेत्र में हाई अलर्ट पर हैं। --आईएएनएस आरएचए/आरजेएस

अन्य खबरें

No stories found.