नीतू दबोदिया गैंग के गुर्गे पर बदमाशों ने चलाई अधाधुधं गोलियां
क्राइम

नीतू दबोदिया गैंग के गुर्गे पर बदमाशों ने चलाई अधाधुधं गोलियां

news

नई दिल्ली, 30 जुलाई (हि.स.)। कंझावला इलाके में एक नीतू दबोदिया नामक गैंगस्टर के करीबी बदमाश को अज्ञात बदमाशों ने बीती रात गोली मार दी। वारदात के बाद आरोपी मौके पर से फरार हो गए। परिवार वालों ने उसे घायलावस्था में अस्पताल में भर्ती कराया। जिसको सफदरजंग अस्पताल में शिफ्ट कर दिया। डॉक्टरों ने उसकी हालत गंभीर बताई है। पुलिस अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज कर तलाश कर रही है। शुरूआती जांच में पुलिस गैंगवार और वारदात का तिहाड़ जेल से लिंक की आशंका से इंकार नहीं कर रही है। जानकारी के मुताबिक बीती रात करीब नौ बजे पुलिस को कंझावला तटेसर शमशान घाट के पास संदीप नामक बदमाश को गोली मारने की सूचना मिली। पुलिस मौके पर पहुंची। संदीप सडक़ पर खून से लथपथ हालत में पड़ा था। पास ही उसकी बाइक और आधा दर्जन से ज्यादा कारतूस के खोल पड़े थे। संदीप को तुरंत नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराया और उसके परिवार वालों को वारदात की जानकारी दी। डॉक्टरों ने संदीप की हालत बिगड़ता देखकर उसे सफदरजंग अस्पताल में शिफ्ट कर दिया। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि संदीप कंझावला पुलिस का घोषित बदमाश है। वह बवाना में अजय उर्फ सोनू दादा के अपहरण और उसकी हरियाणा में ले जाकर हत्या के बाद शव को जलाने की वारदात समेत आधा दर्जन से ज्यादा वारदातों में शामिल रहा है। बीती रात वह अपने खेत से बाइक से घर की तरफ जा रहा था। तभी अज्ञात बाइक सवार बदमाशों ने उसपर दो पिस्टल से अधाधुधं गोलियां चलाई। करीब तीन से चार गोली संदीप को लगी,जिससे वह वहीं पर गिर गया। गोलियों की आवाज सुनकर जब तक आसपास के लोग मौके पर पहुंच पाते। बदमाश मौके पर से अंधेरे का फायदा उठाकर फरार हो गए। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि संदीप गैंगस्टर नीटू दबोदिया का करीबी रह चुका है। जबकि नीतू की तिहाड़ जेल में बंद गैंगस्टर नीरज बवानिया से दुश्मनी है। दोनों की दुश्मनी काफी समय से चली आ रही है। सूत्रों की मानें तो संदीप नीरज बवानिया के साथी अजय उर्फ सोनू उर्फ पंडि़त उर्फ दादा की सुल्तानपुर डबास से अपहरण कर उसकी हरियाणा में लेकर गाली मारकर हत्या कर दी थी। जिसके बाद उसकी लाश को जलाकर ठिकाने लगा दिया था। अब जब संदीप पर बदमाशों ने गोली चलाई है। उसको देखते हुए लग रहा है कि तिहाड़ जेल में सजा काट रहे नीरज बवानिया के निर्देश पर ही उसके गुर्गो ने संदीप पर गोली चलाकर उसकी हत्या करने की कोशिश की थी। जिसके बारे में बदमाशों ने संदीप की रेकी कर वारदात को अंजाम दिया था। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी-hindusthansamachar.in