निजी आईडी से ई-टिकट बनाना पड़ा महंगा, दलाल को दबोचा

निजी आईडी से ई-टिकट बनाना पड़ा महंगा, दलाल को दबोचा
making-e-ticket-with-personal-id-was-expensive-arrested-the-broker

ग्वालियर, 25 जून (हि.स.)। ट्रेनों की संख्या बढ़ें के साथ अब उनमें यात्रियों को वेटिंग टिकट मिलने लगे हैं। इसको लेकर आरपीएफ ने भी टिकट दलालों पर कार्रवाई करना शुरु कर दिया है। आरपीएफ की जासूसी शाखा ने मुखबिर की सूचना पर निजी आईडी का उपयोग कर ई-रेल टिकट बुक कर रहे रेल दलाल को मौके से रेलवे एक्ट की धारा 143 के तहत प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार किया है। आरपीएफ निरीक्षक आनंद स्वरूप पाण्डे शुक्रवार को ने बताया कि बीते दिनों मुखबिर ने सूचना दी थी कि लश्कर क्षेत्र के जद में आने वाले लभेड़पुरा इलाके में संचालित जय मां वैष्णों ट्रैवल्स का संचालक निजी आईडी का उपयोग कर ई-रेल टिकट बुक कर हर टिकट पर दो सौ से अधिक रुपये लोगों से ले रहा है। सूचना मिलते ही बताए गए ठिकाने पर पहुंचे जासूसी शाखा के प्रभारी अवधेश गोस्वामी, उपनिरीक्षक अजय कुमार व केदारमीना व अन्य जवानों ने घेराबंदी कर मनीष (37) पुत्र अशोक कुशवाह निवासी नहर वाली माता, नाका चंद्रवदनी लश्कर को 13 निजी आईडी पर रेल यात्रा टिकट बेचने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। आरपीएफ ने दुकान के पूर्व की यात्रा के चौदह हजार रुपये कीमत के एक दर्जन टिकटों साथ ई-टिकट बनाने के लिए उपयोग किए जाने वाला एक मॉनीटर, सीपीयू, प्रिंटर व एक मोबाइल मौके से बरामद किया है। हिन्दुस्थान समाचार/शरद

अन्य खबरें

No stories found.