लोहिया कैम्पस में दबंगों ने एम्बुलेंस चालक को छत से फेंका, गम्भीर
लोहिया कैम्पस में दबंगों ने एम्बुलेंस चालक को छत से फेंका, गम्भीर
क्राइम

लोहिया कैम्पस में दबंगों ने एम्बुलेंस चालक को छत से फेंका, गम्भीर

news

फर्रुखाबाद, 23 जुलाई (हि.स.)। शहर कोतवाली क्षेत्र दबंगों ने बुधवार की रात लोहिया अस्पताल के कैंम्पस में कहर ढाया। शराब की दावत उड़ाने वाले दबंगों ने एंबुलेंस चालक आदेश की जमकर पिटाई की। और उसे छत से नीचे फेंक दिया। हमलावर लूटपाट कर तमंचे लहराते हुए भाग गए। गुस्साए एंबुलेंस चालकों ने हड़ताल कर दी है। लोहिया अस्पताल कि कैंम्पस कॉलोनी निवासी 102 एंबुलेंस के चालक भंवरपाल ने कॉलोनी निवासी युवराज, पंकज पुत्र एमपी सिंह, अमन कटियार, पवन द्विवेदी व उनके साथियों के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराई है। रिपोर्ट के मुताबिक भंवरपाल बीती रात 10.30 बजे ड्यूटी कर लोहिया कैंम्पस स्थित हॉस्टल पहुंचा तो उसने देखा कि कैंम्पस में रहने वाले युवराज, पंकज व उनके दोस्त अमन कटियार पवन द्विवेदी अपने सात आठ साथियों के साथ कैंम्पस परिसर में शराब पी रहे थे। नशे में धुत युवराज व पंकज ने भंवरपाल व उसके साथी पायलट आदेश कुमार को गंदी गाली देते हुए कहा कि तुम यहां कोरोना वायरस फैला रहे हो, भाग जाओ कल से कोई एंबुलेंस नहीं चलेगी। भंवर पाल ने उन लोगों को समझाने का प्रयास किया तो वह और उग्र हो गए। जिन्होंने सरिया से एंबुलेंस तोड़नी शुरू कर दी। शोर-शराबा सुनकर हॉस्टल से प्रमोद कुमार, संजीव कुमार,मोहित कुमार बाहर निकले जिन्होंने युवराज व उनके साथियों को रोकने का प्रयास किया। वह लोग हाथ में तमंचे लहराने लगे और कहा कि तुम लोगों की यहां लाशें बिछी होंगी। भयभीत चालक हॉस्टल के अंदर भागे तो हमलावर तमंचे लहराते हुए अंदर घुस गए। चालक जान बचाने के लिए इधर-उधर भागने लगे। इसी दौरान लोहिया परिसर में भगदड़ मच गई। इसी दौरान हमलावर युवराज एवं पंकज ने आदेश को पकड़ लिया पंकज आदेश को घसीटकर अपने पिता एमके सिंह के आवास में ले गया। हमलावरों ने चेतावनी दी यदि कोई आया तो वह आदेश की मौत का नंगा तांडव देखेगा। हमलावरों ने आदेश पर सरिया व तमंचे की बट से हमला करते हुए छत पर ले गए। दोस्त आदेश को बचाने भंवर पाल छत पर पहुंच गया तो पंकज ने उसके ऊपर तमंचा तान दिया। सभी लोग आदेश को मारने लगे जब आदेश ने भागने का प्रयास किया तो युवराज व उसके साथियों ने आदेश के हाथ पैर पकड़ कर छत से फेंक दिया। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस को देख कर हमलावर अवैध तमंचा लहराते हुए भाग गए। गंभीर घायल आदेश को लोहिया अस्पताल ले जाया गया जहां से उसे सैफई के लिए रेफर किया गया। हमलावर आदेश का मोबाइल फोन व सोने की चैन लूट ले गए। पुलिस ने इस मामले में तीन आरोपियों को हिरासत में ले लिया है। महेंद्र प्रताप सिंह लखनऊ के स्वास्थ्य विभाग में लिपिक पद पर कार्यरत हैं। वैसे पूर्व लोहिया अस्पताल में सीएमओ कार्यालय में भी तैनात रहे हैं। मालूम हो कि लोहिया कैम्पस में बरसों से गुंडों का अड्डा है। हिन्दुस्थान समाचार/चन्द्रपाल/राजेश-hindusthansamachar.in