hamid-arrested-in-bengaluru-with-assets-worth-more-than-rs-50-crore-suspected-to-be-used-in-terror-funding
hamid-arrested-in-bengaluru-with-assets-worth-more-than-rs-50-crore-suspected-to-be-used-in-terror-funding
क्राइम

बेंगलुरु से गिरफ्तार हामिद के नाम 50 करोड़ से अधिक की सम्पत्ति, टेरर फंडिंग में प्रयोग करने का शक

news

गोंडा, 23 फरवरी (हि.स.)। दुबई में बैठकर ई-टिकटिंग का अवैध कारोबार करने वाले मास्टरमाइंड हामिद अशरफ की 50 करोड़ रुपये से अधिक की सम्पत्ति का खुलासा हुआ है। सूत्रों की माने तो वह यह रकम को टेरर फंडिंग में प्रयोग कर रहा था। उस पर 50 हजार रुपये का इनाम भी घोषित है। इस संबंध में गोंडा जनपद के रेलवे सहायक सुरक्षा आयुक्त अजय कुमार सिंह ने बताया कि हामिद को 17 फरवरी को बेंगलुरु एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया था। इसके बाद उसे ट्रांजिड रिमांड पर पहले जनपद बस्ती फिर गोंडा लाया गया। हामिद बेहद शातिर अपराधी है और वह खुद का सॉफ्टवेयर बनाकर रेलवे के टिकट की कालाबाजारी का रहा था। हामिद की 50 करोड़ रुपये अधिक संपत्ति का ब्योरा भी पुलिस ने जुटा लिया है। लगा रहा था रेलवे का चूना मूलरूप से बस्ती जिले के कप्तानगंज थाना क्षेत्र का रहने वाला हामिद अशरफ रेलवे के समानांतर ई-टिकटिंग का अवैध कारोबार चला रहा था। वह एमनस व रेड मिर्ची सॉफ्टवेयर डेवलप कर रेलवे के चूना लगा रहा था। शातिर हामिद की गिरफ्तारी के लिए गोंडा जनपद के रेलवे सुरक्षा बल ने बीते 21 जनवरी को हामिद के खिलाफ लुक आउट नोटिस भी जारी किया था। लुक आउट नोटिस जारी होने के बाद हामिद दुबई में ट्रेस किया गया था। वह जैसे ही दुबई से बंगलोर एअरपोर्ट पहुंचा वैसे ही आरपीएफ की टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया। दुबई में बैठकर चला रहा था नेटवर्क इस संबंध में गोंडा रेलवे के सहायक सुरक्षा आयुक्त अजय कुमार सिंह ने बताया कि पहली बार अप्रैल 2016 में पुरानी बस्ती से सीबीआई बेंगलुरु ने ई-टिकट के अवैध कारोबार के सिलसिले में हामिद को गिरफ्तार किया था। जमानत मिलने के बाद वह दुबई भाग गया था। वहीं, से वह अपना कारोबार चला रहा था। हामिद के खिलाफ जनपद के अलावा बस्ती, मुंबई,बैंगलोर, नेपाल समेत कई राज्यों के शहरों में रेलवे ई-टिकटिंग का अवैध कारोबार करने का मामला दर्ज हैं। हिन्दुस्थान समाचार/ महेन्द्र/दीपक

AD
AD