grp-arrested-three-criminals-in-barauni-gwalior-train-robbery-case
grp-arrested-three-criminals-in-barauni-gwalior-train-robbery-case
क्राइम

बरौनी ग्वालियर ट्रेन डकैती मामले में जीआरपी ने तीन अपराधियों को दबोचा

news

छपरा, 21 फ़रवरी (हिस)| पूर्व मध्य रेलवे के छपरा- सोनपुर रेलखंड पर सोनपुर तथा दिघवारा के बीच बरौनी ग्वालियर एक्सप्रेस ट्रेन में हुई डकैती तथा यात्री को गोली मारने के मामले में राजकीय रेलवे पुलिस ने दो दिनों में ना केवल अपराधियों को गिरफ्तार करने में रविवार को महत्वपूर्ण सफलता हासिल की, बल्कि यात्रियों से लूटे गए दो मोबाइल तथा सामानों के साथ हथियार भी बरामद किया है। इस आशय की जानकारी रेल पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार सिंह ने रविवार को सोनपुर रेल थाना में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में दी। उन्होंने बताया कि सीसीटीवी कैमरा के फुटेज के आधार पर अपराधियों की पहचान यात्रियों के द्वारा की गई। पहचान किए गए अपराधियों में से 3 को गिरफ्तार किया गया है, जिसमें दिघवारा थाना क्षेत्र के शीतलपुर डीह वार्ड नंबर 5 निवासी अभिषेक कुमार, , दरियापुर थाना क्षेत्र के बलुआहीया गांव निवासी राहुल कुमार यादव तथा उसी गांव के राहुल कुमार को गिरफ्तार किया गया है, जिनके पास से घटना में प्रयुक्त दो देशी कट्टा, चार जिंदा कारतूस, दो बड़ा फसूली, एक पिट्ठू बैग, 2950 रुपये नगद, यात्री राजू कुमार यादव और मोबाइल तथा एक अन्य यात्री का मोबाइल बरामद किया गया। दोनों अपराधियों के पास से दो मोबाइल भी बरामद किए गए हैं। उन्होंने बताया कि 17- 18 फरवरी की मध्य रात में बरौनी- ग्वालियर एक्सप्रेस ट्रेन से अपराधियों ने हथियार के बल पर एक सोने की चेन, एक सोने की अंगूठी, 50500 रुपये नगद तथा 10 मोबाइल सेट लूट लिया गया था। करीब 24 यात्रियों से लूटपाट की घटना को अंजाम दिया गया था। घटना में 8 से 10 की संख्या में अपराधी शामिल थे। सभी की उम्र 20 से 25 वर्ष होने की बात सामने आई। घटना के तुरंत बाद उन्होंने टीम का गठन किया गया। उन्होंने बताया कि इस घटना को रेल पुलिस ने चुनौती के रूप में लिया था। घटना के करीब एक घंटे बाद वह खुद सोनपुर रेल थाना पहुंच गए थे और उसी समय से इसकी जांच प्रारंभ कर दी गई । प्रथम दृष्टया जांच में जिन अपराधियों की शिनाख्त की गई। उन्हें पीड़ित यात्रियों ने भी पहचान की जिसके बाद तत्काल छापेमारी शुरू कर दी गई और 36 घंटे के अंदर तीन अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया गया। इस मामले में संलिप्त अन्य अपराधियों की भी पहचान कर ली गई है, जिन्हें पकड़ने के लिए लगातार छापेमारी चल रही है। उन्होंने पुलिस टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की है। इस मामले के उद्भेदन में सीसीटीवी कैमरे के फुटेज तथा सर्विलांस सबसे कारगर सिद्ध हुआ है। हिन्दुस्थान समाचार / गुड्डू/चंदा