विधायकों की ख़रीद फ़रोख़्त मामला: हरियाणा और दिल्ली पुलिस को जांच में सहयोग करने के लिए पुलिस महानिदेशक ने लिखा पत्र
क्राइम

विधायकों की ख़रीद फ़रोख़्त मामला: हरियाणा और दिल्ली पुलिस को जांच में सहयोग करने के लिए पुलिस महानिदेशक ने लिखा पत्र

news

जयपुर,21 जुलाई(हि.स.)। स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) और भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने विधायकों की खरीद-फरोख्त और कथित ऑडियो टेप मामले की जांच को लेकर राजस्थान के पुलिस महानिदेशक भूपेंद्र यादव ने मंगलवार को पत्र लिखकर हरियाणा के पुलिस महानिदेशक और दिल्ली पुलिस कमिश्नर से राज्य सरकार को अस्थिर करने के कथित प्रयासों से संबंधित मामले की जांच में उनके राज्य में ठहरे विधायकों तक पहुंचने में सहयोग की अपील की है। गौरतलब है कि एसओजी के पुलिस अधीक्षक विकास कुमार शर्मा के नेतृत्व में एक टीम विधायकों से पूछताछ कर सबूत जुटाने के लिए मानेसर और दिल्ली गई हुई है। जिसमें हरियाणा और दिल्ली पुलिस का सहयोग नही मिल रहा है। जिनके द्वारा कार्रवाई में रुकावट आ रही है। विधायकों की खरीद-फरोख्त से जुड़ा ऑडियो वायरल होने बाद इस मामले में पूछताछ करने के लिए 17 जुलाई शाम को राजस्थान पुलिस की एसओजी टीम हरियाणा पहुंची थी। जहां मानेसर में स्थित आईटीसी रिजॉर्ट के बाहर भारी संख्या में हरियाणा पुलिस तैनात थी, जिसने करीब 40 मिनट तक एसओजी को रिजॉर्ट के अंदर नहीं जाने दिया। इसके बाद जब एसओजी अंदर गई तो विधायक नहीं मिले। दोनों राज्यों की पुलिस आपस में उलझती रही, तब तक विधायक पिछले रास्ते से किसी दूसरी जगह चले गए थे। इसके बाद भी एसओजी दिल्ली और गुड़गांव में विधायकों को तलाशती रही लेकिन वे नहीं मिले। आखिरकार एसओजी को वापस राजस्थान लौटना पड़ा। इन सबके चलते पुलिस महानिदेशक भूपेन्द्र सिंह ने हरियाणा पुलिस महानिदेशक और दिल्ली पुलिस आयुक्त को पत्र लिखकर एसओजी टीम को सहयोग करने के लिए पत्र लिखा है। हिन्दुस्थान समाचार/दिनेश-hindusthansamachar.in